Home » इंडिया » India China Faceoff: Chinese troops violated consensus in southern bank of pangong tso lake
 

भारत-चीनी सैनिकों के बीच 29-30 अगस्त की रात फिर हुई झड़प, चीनी सैनिक कर रहे थे घुसपैठ की कोशिश

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 August 2020, 12:02 IST

India-China Faceoff: भारत और चीन की सेना के बीच एक बार फिर झड़प की खबर सामने आ रही है. इस बार पैंगॉन्ग झील के दक्षिणी तट पर दोनों सेनाओं के बीच झड़प हुई है. रिपोर्ट् के अनुसार, चीनी सैनिक भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे, जिसके बाद भारतीय जवानों ने उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया और चीनी कोशिशों को नाकाम किया.

रिपोर्ट के अनुसार,  29-30 अगस्‍त की रात भारत और चीनी सैनिकों के बीच पैंगॉन्ग झील के दक्षिणी तट पर झड़प हुई. दरअसल, चीनी सैनिकों ने बातचीत से विपरीत जाकर अपना मूवमेंट आगे बढ़ाया. चीनी सैनिकों की गतिविधियों का भारतीय सेना ने पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर विरोध किया. भारतीय सेना ने चीनी सैनिकों को आगे नहीं बढ़ने दिया.

इस झड़प के बाद बॉर्डर में एक बार फिर दोनों देशों के बीच तनातनी बढ़ गई है. भारत ने इस इलाके में सैनिकों की तैनाती और बढ़ा दी है. झड़प के दौरान चुशूल में दोनों देशों के बीच ब्रिगेड कमांडर लेवल की फ्लैग मीटिंग चल रही है. यह 15 जून की रात को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों के सैनिकों के बीच  दूसरी सबसे बड़ी घटना है.

अभी तक के रिपोर्ट में किसी भी तरफ के किसी जवान के हताहत होने की कोई खबर सामने नहीं आई है. भारत सरकार के बयान में कहा, "29/30 अगस्‍त की रात में, चीनी सैनिकों ने पूर्व में बनी सहमति का उल्‍लंघन किया." पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर चीन की सेना हथियारों के साथ आगे बढ़ी. इसके बाद भारतीय सेना ने न सिर्फ उन्हें रोका, बल्कि खदेड़ दिया.

मध्यप्रदेश: छत पर लहराया पाकिस्तान का झण्डा, मचा हड़कंप, मकान मालिक के खिलाफ दर्ज हुआ केस

पीआईबी ने बताया कि इस झड़प के बाद घटना वाली जगह पर भारत ने अपनी स्थिति मजबूत कर ली है. सेना के पीआरओ ने बयान में कहा कि भारत की सेना बातचीत के जरिए शांति स्‍थापित करना चाहती है, लेकिन देश की रक्षा के लिए भी उतनी ही संकल्‍पबद्ध है. पैगोंग का दक्षिणी किनारा चुशूल सेक्‍टर के नाम से जाना जाता है. कई दौर की बातचीत के बाद भी पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के बीच तनाव कम नहीं हो रहा है.

'बाबूओं' पर सख्त हुई मोदी सरकार! हर तीन महीने में होगी काम की समीक्षा, कमी पाए जाने पर छुट्टी तय

अवमानना केस : 6 महीने की कैद या जुर्माना, प्रशांत भूषण पर आज अदालत करेगी सजा का ऐलान

First published: 31 August 2020, 11:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी