Home » इंडिया » India is most dangerous country for women says Survey
 

भारत महिलाओं के लिए दुनिया का सबसे खतरनाक देश- थॉमसन रॉयटर्स सर्वे

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 June 2018, 14:24 IST

महिलाओं के लिए भारत दुनिया का सबसे खतरनाक देश है. यह बात एक वैश्विक सर्वे में सामने आई है. ये सर्वे थॉमसन रॉयटर्स ने किया है. जिसमें इस बात का खुलासा हुआ है कि भारत दुनिया में महिलाओं के लिहाज से सबसे खतरनाक देश है. वहीं इस मामले में पड़ोसी देश पाकिस्तान का स्थान 6वें नंबर पर आता है. यही नहीं भारत में महिलाओं के यौन उत्पीड़न और हिंसाओं के मामले में बढ़ोतरी हो रही है.

मंगलवार को जारी थॉमसन रॉयटर्स फांउडेशन की वैश्विक आंकड़ों के मुताबिक भारत में महिलाओं को सेक्स के धंधों में धकेले जाने और यौन हिंसा के मामलोंं में बढ़ोतरी हुई है. इसी के आधार पर भारत को महिलाओं के लिए खतरनाक बताया गया है. सर्वे में भारत को महिलाओं के लिए युद्धग्रस्त सीरिया और अफगानिस्तान से भी ज्यादा खतरनाक बताया गया है.

इस सर्वे में भारत के बाद अफगानिस्तान को दूसरे नंबर पर रखा गया है. वहीं सीरिया को तीसरा स्थान मिला है. सोमालिया को चौथे और सऊदी अरब को पांचवे नंबर पर रखा गया है. छठवां नंबर पाकिस्तान का है वहीं सातवें नंबर पर डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कॉगो और यमन को आठवां स्थान मिला है. इस मामले में नाइजीरिया को नौवां और विश्व के सबसे ताकतवर देश अमेरिका को दसवां स्थान दिया गया है.

इस सर्वे को 550 विशेषज्ञों का द्वारा किया गया. जिसमें कई तरह के आकलन किए गए, जिनमें भारत को महिलाओं के खिलाफ यौन हिंसा के साथ-साथ घरेलू काम के लिए मानव तस्करी, मजदूरी के मजबूर करना और विवाह के लिए दबाव बनाना शामिल है.

बता दें कि साल 2011 में हुए इस सर्वे के मुताबिक अफगानिस्तान, कॉन्गो, पाकिस्तान, भारत और सोमालिया महिलाओं के लिए सबसे खतरनाक देश माने गए थे. लेकिन इस साल महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराधों के मामले में भारत आगे निकल गया. इस सर्वे से इस बात को बल मिलता है कि छह साल पहले हुए निर्भया कांड के कड़े विरोध और प्रदर्शन के बावजूद महिलाओं की सुरक्षा के लिए भारत में अभी तक पर्याप्त कदम नहीं उठाए गए हैं.

सर्वे में यह भीबताया गया कि भारत की सांस्कृतिक परम्पराओं के चलते भी महिलाएं प्रभावित हुईं हैं, इस वजह से भी वह दुनिया का सबसे खतरनाक देश रहा है. सर्वेक्षण में पाया गया कि एसिड हमले, महिला जननांग का खतना, बाल विवाह और शारीरिक दुर्व्यवहार शामिल हैं.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 10 देशों की सूची में नौ एशिया, मध्य-पूर्व और अफ्रीका से हैं, जबकि पश्चिमी देशों में संयुक्त राज्य अमेरिका एकमात्र ऐसा देश हो जो इस टॉप 10 की सूची में आता है. पिछले साल #MeToo कैम्पेन के कारण अमेरिका में हजारों महिलाओं ने सोशल मीडिया के जरिए यौन हिंसा को लेकर अपनी आवाज बुलंद की थी.

बता दें कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 2007 से 2016 के बीच महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध में 83 फीसदी का इजाफा हुआ है. साथ ही हर घंटे में 4 ऐसे मामले दर्ज किए जाते है. सर्वे के मुताबिक, भारत मानव तस्करी और महिलाओं को सेक्स धंधों में धकेलने के लिहाज से अव्वल है.

ये भी पढ़ें- खुदाई के दौरान घर में मिला इतना गोला-बारूद कि पुलिस और गांववाले रह गए दंग

First published: 26 June 2018, 14:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी