Home » इंडिया » india is second cheapest country to live in 112 country says american survey, bermuda is costliest
 

रहने के लिहाज से भारत 112 देशों में दूसरा सबसे सस्ता देश- सर्वे

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 January 2018, 14:46 IST

दुनिया में रहने या सेवानिवृत्ति के लिहाज से भारत दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश है. अमेरिकन एजेंसी द्वारा 112 देशों के बीच किए गए एक सर्वेक्षण में इस मामले में पहले स्थान पर दक्षिण अफ्रीका रहा है. इन सभी देशों की चार मानकों पर तुलना अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर से की गई है. भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का इस सूची में 14वां स्थान पर है. इसके अलावा कोलंबिया का 13वां, नेपाल का 28वां और बांग्लादेश का 40वां स्थान है.

अमेरिकन सर्वे एजेंसी 'गो बैंकिंग रेट्स' ने यह सर्वे किया है. सर्वे के लिए अमेरिकन एजेंसी ने चार प्रमुख मानकों पर देशों की रैंकिंग तय की. इसके लिए उसने नमबियो द्वारा ऑनलाइन जुटाए गए आंकड़ों का आकलन किया. सर्वेक्षण में स्थानीय क्रयशक्ति सूचकांक, किराया सूचकांक, आम उपभोग की वस्तुओं के (ग्रॉसरी) सूचकांक और उपभोक्ता मूल्य सूचकांक मानकों के आधार पर रैंकिंग की गई है.

 

वहीं किराया सूचकांक के हिसाब से भारत दुनिया के 50 सबसे सस्ते देशों में दूसरे नंबर पर शुमार किया गया है. उससे ऊपर सिर्फ पड़ोसी देश नेपाल का नाम आता है. इस हिसाब से अन्य देशों के मुकाबले रहने के लिए भारत सबसे सस्ता देश है.

उपभोक्ता सामान और ग्रॉसरी की कीमतों के हिसाब से भी भारत सबसे सस्ता देश है. कोलकाता शहर में 285 डॉलर मासिक खर्च में एक अकेला व्यक्ति अपनी गुजर-बसर कर सकता है. सर्वेक्षण के अनुसार भारतीयों की स्थानीय क्रयशक्ति 20.9% सस्ती, किराया 95.2% सस्ता, ग्रॉसरी की कीमत 74.4% सस्ती और स्थानीय सामान और सेवाएं 74.9% सस्ती है।

सर्वेक्षण के हिसाब से 125 करोड़ की आबादी वाला भारत दुनिया के 50 सबसे सस्ते और ज्यादा आबादी वाले देशों में से एक है. यहां प्रमुख उद्योग कपड़ा, रसायन और खाद्य प्रसंस्करण हैं. इसके अलावा भारत के कई शहरों स्थानीय क्रयशक्ति भी अधिक है.

First published: 28 January 2018, 14:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी