Home » इंडिया » India Mission Shakti in Space: After Pakistan now China comes in terror
 

अंतरिक्ष में भारत की मिशन 'शक्ति' से पाकिस्तान के बाद चीन भी घबराया, दी ये दुहाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 March 2019, 21:16 IST

भारत ने मात्र तीन मिनट में मिशन 'शक्ति' द्वारा LEO में सेटेलाइट को मार गिराया है. ऐसा अब तक दुनिया के तीन देश अमेरिका, रूस और चीन ही कर पाए हैं. इसके बाद चीन ने भारत को नसीहत दी है. चीन ने भारत को संयम बरतने की दुहाई दी है. भारत की अंतरिक्ष में हासिल इस उपलब्धि को पाकिस्तान भी हजम नहीं कर पा रहा है.

बता दें कि भारत के एक एंटी-सेटेलाइट मिसाइल ने आज स्पेस में एक दूसरे सेटेलाइट को मार गिराया. ए-सैट ने 300 किलोमीटर दूर अपना निशाना बनाया. भारत ने अंतरिक्ष में वह मुकाम हासिल किया है जो दुनिया के मात्र तीन देश अमेरिका, रूस और चीन ही हासिल कर पाए हैं.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में बताया कि LEO सैटेलाइट को मार गिराना पूर्व निर्धारित लक्ष्य था, इस मिशन को मात्र 3 मिनट में पूरा किया गया है. पीएम मोदी ने बताया कि मिशन शक्ति बहुत कठिन था. वैज्ञानिकों की मानें तो इस मिशन द्वारा उन सैटेलाइट्स को मार गिराया जा सकता है, जो दुश्मन देशों की ओर से अंतरिक्ष में स्थापित किए गए हैं.

 
इनकी मदद से दुश्मन देश हमारे यहां की हर गतिविधि पर नजर रखते हैं. एंटी सैटेलाइट एसेट के माध्यम से ऐसे सैटेलाइट को मार गिराने में सफलता मिलेगी. पीएम मोदी ने बताया कि भारत ने यह ऑपरेशन कर खुद को मजबूत कर लिया है. उन्होंने बताया कि आज हम अंतरिक्ष की चौथी महाशक्ति बन गए हैं.
 
पीएम ने बताया कि ऑपरेशन द्वारा भारत ने किसी भी अंतरराष्ट्रीय कानून, संधि और समझौते का उल्लंघन नहीं किया है. पीएम मोदी ने अपने संदेश में DRDO की टीम को बधाई दी. पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने अंतरिक्ष सुरक्षा में जो काम किया है उसका मूल उद्देश्य भारत को एक सुरक्षित, समृद्ध और शांतिप्रिय राष्ट्र की ओर बढ़ाना है.
 
एंटी सेटेलाइट वेपन क्या है?
 
भारत द्वारा प्रक्षेप किया किया एंटी सैटेलाइट वेपन एक हथियार है. इसका इस्तेमाल खासतौर पर सैन्य से अंतरिक्ष में सैटेलाइट्स को तबाह करने के लिए किया जाता है. अब भारत एंटी सैटेलाइट (ए सेट) के द्वारा अपने अंतरिक्ष कार्यक्रमों को सुरक्षित रख पाएगा. DRDO और ISRO के संयुक्त प्रयास से भारत को ये सफलता हासिल हुई है. 
First published: 27 March 2019, 21:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी