Home » इंडिया » India protests against harassment of high commission officials in Pakistan
 

करतारपुर कॉरिडोर समझौते के 24 घंटे भीतर पाकिस्तान ने की ये नापाक हरकत

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 November 2018, 15:38 IST

भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर पर समझौते के 24 घंटे के भीतर पाकिस्तान अपने असली रंग में दिखाई दिया. भारत ने पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के साथ कथित उत्पीड़न और पाकिस्तान जाने वाले सिख तीर्थयात्रियों के साथ दुर्व्यवहार के लिए जोरदार विरोध दर्ज किया है.

एमईए ने शुक्रवार को एक बयान में कहा "पाकिस्तान के विदेश मामलों के मंत्रालय द्वारा यात्रा की अनुमति देने के बावजूद इस्लामाबाद में भारत के उच्चायोग के अधिकारियों को 21 और 22 नवंबर को गुरुद्वारा ननकाना साहिब और सच्चा सौदा में प्रवेश नहीं करने दिया गया.

एमईए ने कहा कि उच्चायोग के अधिकारियों को भारतीय तीर्थयात्रियों के साथ-साथ उनके कौंसुलर ड्यूटी के बिना इस्लामाबाद लौटने के लिए मजबूर होना पड़ा. गुरुवार को मंत्रिमंडल ने गुरदासपुर के डेरा बाबा नानक गांव से पाकिस्तान के गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर में गलियारे के विकास को मंजूरी दे दी. घोषणा के कुछ घंटों के भीतर पाकिस्तान सरकार ने जवाब दिया कि उसने गलियारे को खोलने का फैसला किया है. गलियारे की लंबाई अंतरराष्ट्रीय सीमा के दोनों तरफ लगभग 4 किमी, 2 किमी है.

पाकिस्तान ने गुरुवार को अपने देश के ऐतिहासिक गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के लिए कॉरिडोर बनाने के भारत के निर्णय का स्वागत किया. पाकिस्तान के सूचना व प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि नई दिल्ली की यह पहल इस मामले में इस्लामाबाद के प्रस्ताव का अनुमोदन है. चौधरी ने ट्वीट कर कहा, "यह सही दिशा में उठाया गया कदम है और हम उम्मीद करते हैं कि इस तरह का कदम सीमा के दोनों तरफ तर्क और शांति की आवाज को बुलंद करेगा." -इनपुट एजेंसी

First published: 23 November 2018, 15:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी