Home » इंडिया » India Rejects UN Report On Jammu and Kashmir Human rights As Fallacious, Motivated
 

भारत ने UN की 'जम्मू कश्मीर' पर रिपोर्ट को किया खारिज, बताया- पूर्वाग्रह से ग्रसित

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 June 2018, 17:16 IST
(File photo )

भारत ने संयुक्त राष्ट्र की जम्मू कश्मीर और पीओके में कथित तौर पर मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों वाली रिपोर्ट को खारिज कर दिया है. भारत ने कहा है कि ये रिपोर्ट झूठा नैरेटिव बनाने वाली और 'अत्यधिक पूर्वाग्रह' से ग्रसित है. इसके साथ ही भारत ने पूरी दुनिया को साफ करते हुए कहा है कि पूरा जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र ने गुरुवार को एक रिपोर्ट जारी कर जम्मू-कश्मीर और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर, दोनों में ही कथित तौर पर मानवाधिकार उल्लंघन करने की बात कही है. रिपोर्ट में यूएन ने इन मानवाधिकार उल्लंघनों की अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग की है. भारत ने यूएन की इस रिपोर्ट को पूरी तरह से खारिज कर दिया है.

विदेश मंत्रालय ने कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा है कि कि ये रिपोर्ट भारत की संप्रुभता और क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन करती है. भारत ने इस रिपोर्ट की मंशा पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि यह रिपोर्ट काफी हद तक असत्यापित जानकारी का एक चुनिंदा संकलन है. विदेश मंत्रालय ने एक बार फिर से पूरी दुनिया को याद दिलाते हुए कहा कि पूरा का पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. पाकिस्तान ने भारत के एक हिस्से पर जबरन अपना कब्जा कर रखा है.

First published: 14 June 2018, 17:16 IST
 
अगली कहानी