Home » इंडिया » India's alcohol intake up by 38% in seven years: Report
 

भारत में शराब पीने वालों की संख्या में हुई हैरान करने वाली बढ़ोतरी, आंकड़े कर देंगे हैरान

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 May 2019, 16:59 IST

अध्ययन के अनुसार, जिसमें पाया गया कि 1990 के बाद विश्व स्तर पर प्रति वर्ष शराब की कुल मात्रा में 70% की वृद्धि हुई है. द लैंसेट पत्रिका में प्रकाशित 1990-2017 के बीच 189 देशों के शराब सेवन का अध्ययन और 2030 तक अनुमानित सेवन बताता है कि हानिकारक शराब के उपयोग के खिलाफ लक्ष्य हासिल करने के लिए दुनिया पटरी पर नहीं है. 2010 और 2017 के बीच भारत में शराब की खपत 38% बढ़ी यानि प्रति वर्ष 4.3 से 5.9 लीटर प्रति वयस्क.

कहा गया है कि इस दौरान अमेरिका में (9.3-9.8 लीटर) और चीन में (7.1-7.4 लीटर) खपत बढ़ गई. शराब की खपत और जनसंख्या वृद्धि के परिणामस्वरूप विश्व स्तर पर प्रति वर्ष शराब की कुल मात्रा में 70% की वृद्धि हुई है. इंटेक कम और मध्यम आय वाले देशों में बढ़ रहा है, जबकि उच्च आय वाले देशों में शराब की कुल मात्रा स्थिर रही है. शोधकर्ताओं ने कहा कि अनुमान है कि 2030 तक सभी वयस्क शराब पीएंगे और लगभग एक चौथाई (23%) कम से कम महीने में एक बार शराब पीएंगे.

 

पूर्वी यूरोप में बड़ी कटौती और चीन, भारत और वियतनाम जैसे कई मध्यम-आय वाले देशों में भारी वृद्धि हुई है. यह प्रवृत्ति 2030 तक जारी रहने का अनुमान है. उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का 2025 तक शराब के हानिकारक उपयोग को 10% तक कम करने का लक्ष्य विश्व स्तर पर नहीं पहुंचेगा.

 मोदी आधुनिक ओरंगजेब, वाराणसी में तुड़वाये सैकड़ों मंदिर : संजय निरूपम

First published: 8 May 2019, 16:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी