Home » इंडिया » India's Diplomatic power shows in UN elected for human right council with highest votes
 

संयुक्त राष्ट्र में दिखी भारत की ताकत, डिप्लोमैटिक पॉवर से सबको कर दिया चित

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 October 2018, 13:01 IST

संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत ने अपनी कूटनीतिक ताकत से कई देशों को चित कर दिया है. संयुक्त राष्ट्र में ह्यूमन राइट काउंसिल के लिए 18 सदस्य देशों का चुनाव किया गया है, जिसमें भारत ने 188 वोट के साथ सबको पछाड़ दिया है. इसके साथ ही संयुक्त राष्ट्र में एक बार फिर भारत की डिप्लोमैटिक पॉवर का नमूना देखने को मिला.

बता दें कि यूनाइटेड नेशन (UN) की सबसे बड़ी मानवाधिकार संस्था ह्यूमन राइट काउंसिल है. जिसका सदस्य भारत को चुन लिया गया है. इस चुनाव में भारत को सबसे ज्यादा वोट हासिल हुए. ह्यूमन राइट काउंसिल के लिए 18 सदस्य देशों का चुनाव किया गया. इसमें भारत 188 वोट के साथ सबसे आगे है. यह काउंसिल 1 जनवरी, 2019 से काम करना शुरु करेगी जो अगले 3 साल के लिए चुनी गई है.

 

इसमें भारत को एशिया पैसिफिक कैटेगरी में से चुना गया है. भारत के साथ ही इस कैटेगरी से बहरीन, बांग्लादेश, फिजी, फिलीपींस ने भी जीत दर्ज की है. भारत इससे पहले साल 2011-14 तक और फिर उसके बाद साल 2014-17 तक अपने 2 कार्यकाल पूरा कर चुका है. हालांकि नियमों के चलते भारत लगातार तीसरी बार इस संस्था का सदस्य नहीं बन पाया था. लेकिन एक बार फिर भारत ने इस महत्वपूर्ण संस्था में वापसी की है.

पढ़ें- योगी राज में 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' कार्यक्रम के दौरान हुई छात्रा की मौत

इस जीत के बाद संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने बताया कि हम संयुक्त राष्ट्र में अपने मित्र राष्ट्रों के आभारी हैं, जिन्होंने हमें इतनी बड़ी मात्रा में वोट दिया. संयुक्त राष्ट्र महासभा की मानवाधिकार संस्था में भारत को मिली यह जीत भारत की वैश्विक तौर पर ताकत को दर्शाती है.

First published: 13 October 2018, 12:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी