Home » इंडिया » India's first test tube baby became mother, give birth a baby boy
 

देश की पहली टेस्ट ट्यूब बेबी बनी माँ

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 March 2016, 19:00 IST

मुंबई में 29 साल पहले पैदा हुई देश की पहली टेस्ट ट्यूब बेबी अब खुद मां बन गई है. हर्षा चावड़ा शाह ने सोमवार को मुंबई में एक बच्चे को जन्म दिया.

विश्व महिला दिवस से एक दिन पहले जसलोक अस्पताल में हर्षा का सिजेरियन ऑपरेशन उन्हीं डॉक्टर ने किया जिन्होंने 1986 में उनकी मां को आईवीएफ तकनीक के जरिये उनके जन्म में मदद की थी.

डिलीवरी करने वाली डॉक्टर इंदिरा हिंदुजा ने कहा कि शिवरात्रि के दिन पैदा हुआ हर्षा का बच्चा स्वस्थ है और स्वयं मां को भी स्वास्थ्य लाभ हो रहा है. पूरी उम्मीद है कि अगले चार-पांच दिनों में मां-बेटा दोनों ही अस्पताल से घर जा सकेंगे. डॉ. हिंदुजा ने अगस्त 1986 में हर्षा के जन्म लेने में मदद करने वाले दल का नेतृत्व किया था. 

पढ़ेंः ये तरीके अपनाएं फेसबुक पर खुद को सेफ रखने के लिए

6 अगस्त 1986 को माटुंगा निवासी हर्षा के जन्म की खबर देश भर की सुर्खियां बनी थी. उस वक्त मुंबई के केईएम अस्पताल में आईवीएफ विशेषज्ञ डॉ. इंदिरा हिंदुजा और डॉ. कुसुम जावेरी ने हर्षा की डिलीवरी करवाई थी. उस वक्त शुरू हुई आईवीएफ तकनीक इसके बाद काफी मशहूर हुई और उसके बाद देश भर की हजारों महिलाएं जो मां नहीं बन सकती थी, इसके जरिये मातृत्व का सुख पाने में सफल रहीं.

पीटीआई से बातचीत में डॉ. हिंदुजा ने कहा, "इस बात पर विश्वास करना बहुत मुश्किल है कि हर्षा की डिलीवरी के बाद हमनें 15 हजार से ज्यादा टेस्ट ट्यूब बेबी की डिलीवरी करवाई है. मुझे वो दिन बहुत अच्छी तरह याद है जब हर्षा पैदा हुई थी और उसके बाद से वो मेरे पर्सनल और प्रोफेेशनल लाइफ का महत्वपूर्ण हिस्सा बनी हुई थी, मैं हर्षा के लिए काफी खुश हूं."

उन्होंने यह भी बताया, "हर्षा ने सामान्य ढंग से गर्भधारण किया था और रविवार को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. अब यह और ज्यादा पुख्ता हो गया है कि टेस्ट ट्यूब बेबी भी सामान्य जीवन जी सकते हैं."

First published: 8 March 2016, 19:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी