Home » इंडिया » India successfully testfired ‘Rudram’ Anti-Radiation Missile from a Sukhoi-30 fighter aircraft
 

दुश्मन के लिए बुरे सपने की तरह है भारत में बना एंटी रेडिएशन मिसाइल रुद्रम, ऐसे करता है काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 October 2020, 11:59 IST

Anti Radiation Missile Rudram: भारत ने अपनी रक्षा प्रणाली को और अधिक घातक बनाते हुए देश में बनी पहली एंटी रेडिएशन मिसाइल रूद्रम का सफल परीक्षण कर लिया है. रुद्रम मिसाइल दुश्मन के लिए किसी बुरे सपने की तरह है. इसका एंटी रेडिएशन मिसाइल होना इसकी सबसे बड़ी खासियत है. इसलिए यह अन्य मिसाइलों से बिल्कुल अलग है.

शुक्रवार को भारत ने इस स्वदेशी एंटी रेडिएशन मिसाइल का सफल परीक्षण किया. रुद्रम एक ऐसी स्वदेशी मिसाइल है, जो कितनी भी ऊंचाई से दागी जा सकती है. रुद्रम दुश्मनों के किसी भी तरह के सिग्नल तथा रेडिएशन छोड़ने वाली मिसाइलों को खोजकर उसको तबाह कर सकती है. रुद्रम को डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन यानि डीआरडीओ ने तैयार किया है.

इस मिसाइल के बनने के बाद भारतीय वायुसेना की ताकत में कई गुना की वृद्धि हुई है. डीआरडीओ ने इसके सफल परीक्षण की जानकारी देते हुए बताया कि इसे ओडिशा के बालासोर स्थित इंटिग्रेटेड टेस्ट रेंज में सुखोई फाइटर जेट से छोड़ा गया. इसकी एक सबसे बड़ी खासियत है कि यह मिसाइल दुश्मन देश के रडार और सर्विलांस को भी चकमा दे सकती है.

दुश्मनों की खैर नहीं

ये मिसाइल दुश्‍मनों के क्षेत्र में लगे सुरक्षा उपकरणों को निष्‍क्रिय करती है. इसको अलग-अलग ऊंचाई से भी लॉन्‍च किया जा सकता है. अभी इसे वायुसेना में शामिल किया गया है, आने वाले समय में यह मिसाइल तीनों सेनाओं के लिए काम कर सकती है. यह हवा से जमीन पर मार करने वाली मिसाइल है. इसकी रेंज 100-150 किमी है.

जम्मू-कश्मीर में लागू हो गए 11 केंद्रीय कानून, राज्य के 10 कानूनों में कर दिया गया बदलाव

सुखोई 30 एमकेआई से लॉन्च किए जाने के बाद इसे मिराज 2000, तेजस तथा जगुआर से भी लॉन्‍च किया जा सकेगा. यह मिसाइल तीन श्रेणियों में हैं, इनमें रूद्रम-1, रूद्रम-2 तथा रूद्रम 3 शामिल हैं. ऐसी मिसाइल अभी हमारे पड़ोसी देशों यानि चीन, पाकिस्तान, श्रीलंका या बांग्लादेश के पास नहीं है. ऐसी मिसाइल भारत के अलावा सिर्फ अमेरिका के पास ही है.

अमेरिका के पास AGM-88 HARM मिसाइल है, जो जमीन से हवा में मार करने वाली एंटी रेडिएशन मिसाइल है. रुद्रम मिसाइल टारगेट को आवाज की रफ्तार से दोगुना तेजी से निशाना बना सकती है. रेडियो फ्रिक्वेंसी छोड़ने अथवा रिसीव करने वाले किसी भी टारगेट को यह आसानी से निशाना बना सकती है.

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, दो आतंकी ढेर

अब ट्रेन छूटने से 30 मिनट पहले जारी होगा दूसरा आरक्षण चार्ट, आज से लागू हुए नए नियम

First published: 10 October 2020, 11:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी