Home » इंडिया » India to buy supersonic missiles in Rs 3000 crore arms spending
 

रक्षा मंत्रालय ने दी सुपरसोनिक मिसाइल की खरीद को मंजूरी, खर्च होंगे 3000 करोड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 December 2018, 16:21 IST

भारत 3,000 करोड़ रुपये यानी (431 मिलियन डॉलर) के रक्षा खर्च योजना के हिस्से के रूप में स्थानीय रूप से निर्मित ब्राह्मोस सुपरसोनिक मिसाइलों को ख़रीदगा. मंत्रालय के एक बयान के मुताबिक रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में एक पैनल ने युद्ध टैंकों के लिए बख्तरबंद वसूली वाहनों या एआरवी खरीदने को भी मंजूरी दे दी है.

मंत्रालय ने कहा कि ब्राह्मोस दो नौसेना के जहाजों के लिए खरीदे जाएंगे जिन्हें रूस में बनाया जाएगा, जबकि स्थानीय फर्म बीईएमएल लिमिटेड एआरवी का उत्पादन करेगी. अधिकारी ने कहा, "स्वदेशी डिजाइन किए गए ब्राह्मोस मिसाइल एक परीक्षण और सिद्ध सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है और इन जहाजों पर प्राथमिक हथियार बनायेगी. "

डीएसी ने भारतीय सेना के मुख्य युद्ध टैंक अर्जुन के लिए बख्तरबंद वसूली वाहन (एआरवी) की खरीद को भी मंजूरी दे दी. अधिकारी ने कहा कि एआरवी डीआरडीओ द्वारा डिजाइन और विकसित किए गए हैं और रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम बीईएमएल द्वारा निर्मित किए जाएंगे.

ये भी पढ़ें : रिकॉर्ड: पहली बार नवंबर में UPI ट्रांजेक्शन की संख्या ने पार किया 500 मिलियन का आंकड़ा

First published: 1 December 2018, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी