Home » इंडिया » India US Relation: US senate passed defence spending bill India can buy weapon from Russia
 

मोदी-ट्रंप की दोस्ती लाई रंग! भारत को रूस से हथियार खरीदने को अमेरिकी सीनेट दी मंजूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 August 2018, 13:35 IST

अमेरिकी सीनेट ने बुधवार को नया रक्षा विधेयक पास किया है. इसके पास होने के साथ ही भारत को रूस से रक्षा उपकरण खरीदने में आ रही दिक्कतें खत्म हो जाएंगी. अमेरिकी सीनेट ने राष्ट्रीय रक्षा विधेयक, 2019 पारित कर सीएएटीएस कानून के तहत भारत के खिलाफ प्रतिबंध लगने की संभावना को खत्म करने का रास्ता निकाल लिया है. अमेरिकी सीनेट ने 716 अरब डॉलर का रक्षा विधेयक पारित किया है.

अमेरिका के राष्ट्रीय रक्षा विधेयक में एक प्रावधान किया गया है. इसके तहत अमेरिका और अमेरिकी रक्षा संबंधों के लिए महत्वपूर्ण साझेदार को राष्ट्रपति एक प्रमाणपत्र जारी कर सीएएटीएसए के तहत प्रतिबंधों से छूट दे सकता है. हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में यह विधेयक पिछले सप्ताह पारित किया जा चुका है. इस विधेयक को अब कानून बनाने के लिए इसे राष्ट्रपति ट्रंप के पास भेजा जाएगा और उनके सिग्नेचर के बाद यह कानून बन जाएगा.

पढ़ें- पाकिस्तान: PM मोदी ने फोन कर दी थी बधाई फिर भी इमरान खान ने शपथ में नहीं भेजा न्यौता

बता दें कि प्रतिबंधों के जरिए अमेरिका के विरोधियों के खिलाफ कार्रवाई कानून (सीएएटीएसए) के तहत उन देशों के खिलाफ प्रतिबंध लगाए जाते हैं जो रूस से महत्वपूर्ण रक्षा उपकरणों की खरीद करते हैं.

अमेरिकी कांग्रेस के सीनेट ने 2019 वित्त वर्ष के लिए जॉन एस मैक्केन नेशनल डिफेंस अथॉराइजेशन एक्ट (एनटीएए) (रक्षा विधेयक) 10 मतों के मुकाबले 87 मतों से पारित कर दिया गया. इस विधेयक में CAATSA के प्रावधान 231 को समाप्त करने की बात कही गई है.

पढ़ें- पाकिस्तान: प्रधानमंत्री बनने के बाद इस बंगले में रहेंगे इमरान खान, तैयारियां हुई शुरू

विधेयक में चीन को दुनिया के सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय नौवहन युद्धाभ्यास रिम ऑफ द पैसिफिक एक्सरसाइज में भाग लेने से रोकने तथा उसकी कंपनियों को रक्षा तथा सुरक्षा प्रतिष्ठानों के लिए कुछ दूरसंचार उपकरण मुहैया कराने से रोकने का प्रावधान भी है.

First published: 2 August 2018, 13:35 IST
 
अगली कहानी