Home » इंडिया » Indian Air Force Struck Jaish E Mohammad Training Camp at Balakot on and hit 4 Building
 

PoK में भारत की एयर स्ट्राइक पर बड़ा खुलासा, भारतीय वायुसेना ने तबाह की थीं जैश की इमारतें

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 March 2019, 10:52 IST

बीते मंगलवार को भारतीय वायुसेना ने पीओके में एयर स्ट्राइक कर पुलवामा हमले का बदला ले लिया. इस दौरान वायुसेना ने लडाकू विमानो ने बालाकोट में स्तित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कई ट्रेनिंग कैंपों को तबाह कर दिया. अब इस बारे में एक बड़ा खुलासा हुआ है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक इस वायुसेना के इस हमले में जैश के चार इमारतों को नेस्तनाबूद कर दिया गया था. जिसमें जैश का मदरसा तलीम-उल-कुरान भी शामिल था.

अखबार ने सरकार के उच्च सूत्रों से बातचीत के आधार पर लिखा है कि इस हमले में कितने आतंकवादी मारे गए हैं इसका कोई सटीक आंकड़ा सामने इसलिए नहीं आ पा रहा है. क्योंकि वहां से खुफिया जानकारी नहीं मिल पा रही है. इसलिए आतंकवादियों की संख्या पर कयास लगाए जा रहे हैं.

वहीं सूत्रों का कहना है कि खुफिया एजेंसियों के पास सिंथेटिक अपर्चर रडार (SAR) की तस्वीरों के तौर पर सबूत हैं. जिसमें चार इमारतें नजर आ रही हैं. इनकी पहचान उन लक्ष्यों के तौर पर हुई है जिन्हें कि वायुसेना के लड़ाकू विमान मिराज-2000 ने पांच एस-2000 प्रिसिजन गाइडेडे म्यूनिशन (PGM) के जरिए निशाना बनाया था.

बता देंकि ये इमारतें मदरसे के परिसर में थीं जिसे जैश संचालित कर रहा था. ये इमारत पहाड़ी की रिज लाइन पर स्थित है. इस पहाड़ी को वायुसेना ने निशाना बनाया था. पाकिस्तान ने इस बात को स्वीकार किया है कि उस क्षेत्र में भारत ने बमबारी की थी लेकिन उसने आतंकी ठिकानों को निशाना बनाए जाने या किसी तरह के नुकसान होने की बात से इंकार किया है.

हालांकि एक अधिकारी ने कहा, "पाकिस्तानी सेना ने स्ट्राइक के बाद मदरसों को सील क्यों कर दिया? उसने मदरसे के अंदर पत्रकारों को जाने की इजाजत क्यों नहीं दी? हमारे पास एसएआफ तस्वीरों के तौर पर सबूत हैं जो दिखाते हैं कि इमारत का इस्तेमाल अतिथि गृह के तौर पर होता था. जहां मौलाना मसूद अजहर का भाई रहता था.

PAK से लौटे अभिनंदन ने वतन वापसी के बाद पहली बार कहा ये शब्द

First published: 2 March 2019, 10:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी