Home » इंडिया » Indian Army building new tunnels, caves along Pakistan and China borders to house firepower
 

भारतीय सेना ने बनाया मास्टर-प्लान, अब बॉर्डर पर नहीं टिक पाएगा चीन और पाकिस्तान

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2019, 18:54 IST

भारतीय सेना को और ज्यादा मजबूती प्रदान करने के लिए सरकार ने एक मास्टर प्लान तैयार किया है. इस परियोजना से चीन और पाकिस्तान के बॉर्डर पर भारत की शक्ति में काफी इज़ाफा होगा इसके साथ ही भारतीय सेना का मनोबल और भी ऊंचा रहेगा. चीन अब डोकलाम जैसे मुद्दे मामले उछालकर अपनी हेकड़ी नहीं दिखा पाएगा क्योंकि भारतीय सेना पहले से कई गुना अधिक शक्ति के साथ उसका मुहंतोड़ जवाब देगी.

अब खराब मौसम में भी सेना को पर्याप्त मात्रा में हथियार और गोला बारूद मुहैया कराया जा सकेगा. मौसम की वजह से इन दूरदराज इलाकों में सेना के कई पोस्ट का संपर्क करीब छह महीने तक अपने मुख्यालय से टूट जाता है. इस सुरंग ऑल वेदर रोड के साथ सेना के फॉर्वर्ड लोकेशन तक जरूरी सैन्य सामग्री पहुंचाने में कारगर साबित होगी.

रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन और पाकिस्तान बॉर्डर पर बढ़े खतरे को देखते हुए भारत ने सरहदों पर चार बड़़ी सुरंगें बनाने का फैसला किया है. इनमें तीन सुरंगे भारत-चीन बॉर्डर पर बनाई जाएगी जबकि एक सुरंग का निर्माण भारत-पाकिस्तान की सरहद पर होगा.

इस परियोजना को पूरा करने के लिए भारतीय सेना और NHPC के बीच MoU पर समझौता करने जा रहा है. भारतीय सेना के डायरेक्टर जनरल (ऑपरेशन एंड लॉजिस्टिक) और NHPC के निदेशक इस समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे.

इस मेगा प्लान को भारतीय सेना के ऑपरेशन की तैयारियों के अंतर्गत किया जा रहा है जिससे किसी भी मौसम में सेना तक हथियार, गोला बारूद, आपात मदद और बैकअप सटीक तरीके से पहुंचे जा सकती है. इसके अलावा रस्ते में आतंकी हमले का खतरा भी कम रहेगा. यानी जब भी जरूरत होगी भारतीय सेना दुश्मन के छक्के छुड़ाने को तैयार रहेगी.

First published: 25 April 2019, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी