Home » इंडिया » indian Army crosses Line of Control, kills 3 Pakistani soldiers to avenge deadly attack on Indian troops in jammu kashmir
 

इंडियन आर्मी ने LoC पार कर लिया सैनिकों की शहादत का बदला

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 December 2017, 11:07 IST

इंडियन आर्मी ने पाकिस्तान को सबक सिखाते हुए अपने चार जवानों की शहादत का बदला ले लिया है. इंडियन आर्मी ने 48 घंटे के भीतर नियत्रंण रेखा पार कर तीन पाकिस्तान के जवानों को मौत के घाट उतार दिया. सोमवार रात भारतीय सेना के जवानों ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ के पास रावलाकोट में तीन पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया.

भारतीय सैनिकों ने ये कार्रवाई नियत्रंण रेखा पार की. पाकिस्तान सीमा पार से लगातार सीजफायर तोड़ रहा है और सीमा पार के इलाकों में भारी गोलाबारी कर रहा है. सोमवार को भी पाकिस्तान ने भारतीय सैनिकों को उकसाते हुए ताबड़तोड़ फायरिंग की. इसका करारा जवाब देते हुए भारतीय सेना ने एलओसी पर इस कार्रवाई को अंज़ाम लिया.

जानकारी के मुताबिक सोमवार रात पाकिस्तान ने भारत को उकसाते हुए एलओसी में पुंछ के पास रावलाकोट सेक्टर में ताबड़तोड़ फायरिंग की. इस फायरिंग के जवाब में भारतीय सैनिकों ने जवाबी फायरिंग की. पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए भारतीय सेना के जवानों ने एलओसी पार की.

नियंत्रण रेखा पार करने के बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान के तीन जवानों को मार गिराया. पाकिस्तान की मीडिया के मुताबिक भारतीय सैनिकों की फायरिंग में एक पाकिस्तानी सैनिक घायल भी हुआ है. इसी के साथ ही भारतीय सैनिकों ने 23 दिसंबर 2017 को भारत के चार जवानों की शहादत का बदला भी ले लिया.

गौरतलब है कि 23 दिसंबर को भारतीय सेना के चार जवान सीमा पार से पाकिस्तान की फायरिंग में शहीद हो गए थे. पिछले शनिवार को जम्मू के राजौरी सेक्टर के केरी एलओसी पर पाक फायरिंग में भारतीय सेना के एक मेजर सहित तीन जवान शहीद हो गए थे. सेना के मुताबिक सीमा पार  से बिना किसी उकसावे वाली कार्रवाई के तहत पाकिस्‍तान की ओर सीजफायर तोड़ा गया था.

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने इससे पहले भी नियत्रंण रेखा पार कर सर्जिकल स्ट्राइक की थी. उरी हमले में 19 भारतीय जवानो की मौत का बदला लेने के लिए  पिछसे साल भारतीय सेना ने ये बड़ी कार्रवाई की थी. भारतीय सेना ने 28- 29 सितंबर 2016 की रात को नियंत्रण रेखा के पार जाकर सात आतंकी शिविरों को उड़ा दिया था.

First published: 26 December 2017, 11:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी