Home » इंडिया » Indian Army Formally Inducts K9 Vajra And M777 Howitzer Guns
 

इन 'वज्र' हथियारों से और शक्तिशाली होगी भारतीय सेना, दुश्मन के घर में जाकर करेगी मार

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 November 2018, 16:16 IST

भारतीय सेना शुक्रवार से और अधिक शक्तिशाली हो गई. ये शक्तियां मिलने से सेना अब देश के दुश्मन को मुंह तोड़ जवाब ही नहीं देगी बल्कि घर में घुसकर भी मारेगी. रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने शु्क्रवार को थलसेना में तीन प्रमुख तोप प्रणालियों को शामिल किया. जिससे सेना की ताकत पहले से ज्यादा हो गई.

रक्षा मंत्री ने जिन तीन तोपों को सेना में शामिल कराया उनमें ‘एम777 अमेरिकन अल्ट्रा लाइट होवित्जर’ और ‘के-9 वज्र’ शामिल हैं. बता दें कि ‘के-9 वज्र’ एक स्व-प्रणोदित तोप है. थलसेना में शामिल की गई तीसरी तोप प्रणाली ‘कम्पोजिट गन टोइंग व्हीकल’ है.

एक अधिकारी के मुताबिक अगले साल के मध्य तक ‘एम777’ और ‘के-9 वज्र’ की पहली रेजिमेंट बनाने की तैयारी से पहले इन तोपों को थलसेना में शामिल किया गया है. इस रेजिमेंट में 18 ‘एम777’ और 18 ‘के-9 वज्र’ तोपों को शामिल करने की योजना है.

145 ‘एम777’ तोपों की खरीद के लिए भारत ने नवंबर 2016 में अमेरिका से 5,070 करोड़ रुपए की लागत का एक अनुबंध किया था. विदेशी सैन्य बिक्री कार्यक्रम के तहत यह अनुबंध किया गया था. इराक और अफगानिस्तान में इस्तेमाल हुए ‘एम777’ तोपों को हेलिकॉप्टरों द्वारा आसानी से ऊंचाई वाले इलाकों में ले जाया जा सकता है.

First published: 9 November 2018, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी