Home » इंडिया » Indian Army major restructuring: Modi Government going to change in Indian Army
 

सेना में होगा आजादी के बाद का सबसे बड़ा बदलाव, मोदी सरकार के इस काम से बदल जाएगी आर्मी की सूरत

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 January 2019, 19:11 IST

केंद्र की मोदी सरकार भारतीय सेना के लिए आजादी के बाद का सबसे बड़ा बदलाव करने जा रही है. खबर है कि भारतीय सेना में प्रमोशन को लेकर बदलावों की बात चल रही है और कहा जा रहा है कि सेना को 1000 मेजर जनरल मिल सकते हैं. बता दें कि अभी वर्तमान व्यवस्था में करीब 1000 कर्नल रैंक के अधिकारी ब्रिगेडियर के रैंक पर प्रमोट होते हैं और फिर करीब 300 मेजर जनरल बनते हैं.

भारतीय सेना ने इस बारे में बदलावों को लेकर पहल की है. अब सारा दारोमदार मोदी सरकार पर है, यदि सरकार इसको लेकर स्थिति साफ कर दे और नेवी और एयरफोर्स भी इस पर अपनी सहमति जता दें. तो मेजर जनरल रैंक पर आजादी के बाद ये सबसे बड़ा जंप होगा.

इस आइडिया को टॉप आर्मी लीडरशिप लेकर आई है. टॉप आर्मी लीडरशिप के इस आइडिया के अनुसार, सेना में ब्रिग्रेडियर रैंक को बाईपास कर दिया जाए तो करीब 1000 कर्नल रैंक के अधिकारी मेजर जनरल बन सकते हैं.

 

आर्मी के सूत्रों का कहना है कि सेना में प्रमोशन की इस रिस्ट्रक्चरिंग के बाद सेना पर कोई भी अतिरिक्त वित्तीय भार नहीं पड़ेगा. बता दें कि सेना में रिस्ट्रक्चरिंग इश्यू ट्राई सर्विस मामला है और नौसेना और वायु सेना को भी इसे अनुमोदित करना होगा. सेना में यदि मेजर जनरल की संख्या में इजाफा होता है तो रियर एडमिरल और एयर वाइस मार्शल की संख्या भी बढ़ेगी.

पढ़ें- अब BJP के इस नेता ने ढूंढी भगवान राम और हनुमान की जाति, बोले- दोनों वैश्य समुदाय के थे

भारतीय सेना के तीनों विंग यानि नौसेना, वायुसेना और थलसेना इस पर एक साथ आगे बढ़ते हैं तो प्रस्ताव सरकार के समक्ष रखा जाएगा. सेना का कहना है कि ये प्रस्ताव फोर्स को बेहतर बनाने में मदद देगा और आर्म्ड फोर्सेस करियर का बेहतर विकल्प बनेगा.

First published: 3 January 2019, 19:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी