Home » इंडिया » Indian Army scams Pakistan's nefarious plans destroys missile shell near LoC watch video
 

भारतीय सेना ने पाकिस्तान के नापाक मंसूबों पर फेरा पानी, LoC के पास नष्ट की मिसाइल शेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 October 2019, 13:27 IST

भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई ने आतंकियों के अलावा पाकिस्तानी सेना की कमर तोड़कर रख दी है. बुधवार को एक बार फिर भारतीय सेना ने पाकिस्तान के नापाक मंसूबों पर पानी फेर दिया. दरअसल, भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा (LoC) के पास एक गांव में दागी दो मिसाइल शेल को नष्ट कर दिया. सेना के जवानों ने जिस मिसाइल शेल को गांव में नष्ट किया वह गांव जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में स्थित है.

गौरतलब है कि पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने के और राज्य का दर्जा हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. उसके बाद से सीमापार से भारत के खिलाफ लगातार जहर उगला जा रहा है. ऐसे में पाकिस्तान भारत के खिलाफ न सिर्फ अपनी सेना बल्कि आतंकवादियों का भी इस्तेमाल कर रहा है.

जिसके लिए वह कभी सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है तो कभी पंजाब से लगी पाक सीमा पर ड्रोन से भारत में अपने नापाक मंसूबों को कामयाब करने की कोशिश कर रहा है. लेकिन देश रक्षा में सीमा पर तैनात भारतीय जवान पाकिस्तान के किसी मंसूबे को कामयाब नहीं होने दे रहे. साथ ही उसे मुंहतोड़ जवाब भी दे रहे हैं. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से अबतक पाकिस्तान 300 से ज्यादा बार संघर्षविराम का उल्लंघन कर चुका है.

खुफिया इनपुट्स के मुताबिक, पाकिस्तान ने पुंछ और राजौरी सेक्टर में सीमा पार आतंकी लॉ़न्च पैड बना रखा है. इन लॉन्च पैड पर घुसपैठ के लिए पाकिस्तान ने आतंकवादियों को तैनात किया है. पाकिस्तान लगातार ये कोशिश कर रहा है कि एलओसी पर बर्फ गिरने से रास्ता बंद होने से पहले ज्यादा आतंकियों को भारत में प्रवेश करा दे. जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान ने पीओके में एलओसी पर आतंकियों के 20 लॉन्च पैड सक्रिय कर दिए हैं. इसके साथ ही पीओके में इतने ही आतंकी कैंप भी बनाए गए हैं जहां से आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराई जा सके.

ये भी पढ़ें-

जम्मू-कश्मीर: नौशेरा में पाकिस्तान ने फिर की फायरिंग, एक जवान शहीद, भारत ने की जवाबी कार्रवाई

पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, दो जवान शहीद, एक नागरिक की मौत

First published: 23 October 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी