Home » इंडिया » Indian currency notes of 500 & 1000 not valid anymore
 

500 और 1000 रुपए के नोट अब कागज़ के टुकड़े

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 November 2016, 21:15 IST
(मलिक/कैच न्यूज़)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा है कि आज रात यानी 8 नवंबर 2016 की रात 12 बजे से वर्तमान में जारी 500 और 1000 के करंसी नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे. यानी कि ये मुद्राएं अब कानूनन अमान्य होंगी. प्रधानमंत्री ने कहा है कि 500 और 1000 रुपए के नोट अब कागज़ के टुकड़े हैं. सरकार ने यह पहल भ्रष्टाचार, काला धन और आतंकी गतिविधियों में इस्तेमाल होने वाले हवाला पर रोकथाम के मकसद से यह कदम उठाया है. 

प्रधानमंत्री ने कहा, 'कालेधन और जाली नोट के कारोबार में लिप्त देशविरोधी और समाज विरोधी तत्वों के पास मौजूद 500 और 1000 के पुराने नोट अब केवल कागज के एक टुकड़े के समान रह जाएंगे. ऐसे नागरिक जो संपत्ति मेहनत और ईमानदारी से कमा रहे हैं, उनके हितों और हक़ की पूरी रक्षा की जाएगी. ध्यान रहे कि 100, 50, 20, 10, 5, 2 और 1 रुपए के नोट और सभी सिक्के नियमित हैं और लेनदेन के लिए उपयोग हो सकते हैं. उसपर कोई रोक नहीं है'.

प्रधानमंत्री ने कहा, 'देशवासी 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट 10 नवंबर से लेकर 30 दिसबंर 2016 तक बैंक या डाकघर में जमा करवा सकते हैं. आपके पास लगभग 50 दिनों का समय है. नोट जमा करने के लिए अफरा-तफरी करने की कोई आवश्यकता नहीं है. 500 या 1000 हज़ार रुपए के नोटों को जमा करके अपनी ज़रूरत के अनुसार ले सकते हैं'.

30 दिसंबर 2016 की समयसीमा

उन्होंने कहा, 'केवल शुरू के दिनों में खाते से धनराशि निकालने पर प्रतिदिन 1 हज़ार और प्रति सप्ताह 20 हज़ार की सीमा तय की गई है. ऐसा नए नोटों की उपलब्धता को ध्यान में रखते हुए किया गया है. तत्काल आवश्यकता के लिए 500 और 1000 के पुराने नोटों को नए और मान्य नोटों के साथ 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक किसी भी बैंक प्रमुख और उप डाकघर के काउंटर से अपना पहचान पत्र आधार कार्ड, मतदाता, पैन कार्ड इत्यादि सबूत के रूप में पेश करके नोट बदल सकते हैं.

30 दिसंबर 2016 तक किसी कारणवश पुराने नोट अगर जमा नहीं कर पाए तो उन्हें बदलने का आख़िरी मौक़ा दिया जाएगा. ऐसे लोग रिज़र्व बैंक के निर्धारित ऑफिस में अपनी राशि घोषणापत्र के साथ 31 मार्च 2017 तक जमा करवा सकते हैं. 

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि नौ नवंबर और 10 नवंबर को एटीएम काम नहीं करेंगे. शुरू में एटीएम से प्रतिदिन और प्रतिकार्ड समयसीमा 2 हज़ार की होगी, फिर उसे बढ़ा दिया जाएगा. 

इसके अलावा 11 नवंबर की रात 12 बजे तक सभी सरकारी अस्पतालों में भुगतान के लिए पुराने नोट स्वीकार किए जाएंगे. 

First published: 8 November 2016, 21:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी