Home » इंडिया » Indian Govt planning to change security features of 2000-500 currency notes every 3-4 years
 

तीन से चार साल में बदल जाएंगे मौजूदा करेंसी नोट

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 April 2017, 16:10 IST

बीते नवंबर में की गई नोटबंदी के बाद अब केंद्र सरकार इस योजना पर काम करने पर विचार कर रही है कि 2000-500 जैसे बड़े मूल्य वर्ग के बैंक नोटों के सुरक्षा फीचर्स हर तीन-चार साल में बदल दिए जाएं. सरकार के इस विचार के पीछे असल वजह जाली नोटों की बढ़ती समस्या है.

कहा जा रहा है कि नोटबंदी के बाद भारी मात्रा में नई करेंसी के जाली नोट बरामद किए जाने के बाद सरकार ने यह योजना बनाई है. सूत्रों की मानें तो बृहस्पतिवार को जाली नोटों से निपटने और नोटों के सुरक्षा फीचर्स में बदलाव लाने के संबंध में केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि समेत वित्त व गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई थी.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक इस कदम का समर्थन करते हुए गृह मंत्रालय के अधिकारियों का कहना था कि अधिकांश विकसित मुल्क अपने यहां के बैंक नोटों के सुरक्षा फीचर्स में तीन-चार साल में बदलाव कर देते हैं. देश में भी इसका पालन किया जाना जरूरी है.

 

भारतीय नोटों के डिजाइन में काफी लंबे वक्त से बदलाव की दरकार है. नोटबंदी के दौरान बंद किए गए 1000 रुपये के करेंसी नोट का वर्ष 2000 में पेश किया गया था लेकिन उसके बाद से इसमें कोई बदलवा नहीं किया गया. 500 रुपये के नोट को 1987 में पहली बार पेश किया गया था और पिछले दशक में उसमें पहली बार बदलाव किया गया.

अधिकारियों ने यह भी कहा नए करेंसी नोटों में भी अतिरिक्त सुरक्षा फीचर्स का अभाव है क्योंकि बीते दिनों पकड़े गए जाली नोटों की जांच से पता चला कि इनमें 17 में से 11 फीचर्स को कॉपी किया गया है.

First published: 2 April 2017, 16:10 IST
 
अगली कहानी