Home » इंडिया » Indian made drones designed to take out targets like balakot air strike for IAF
 

भारत बना रहा दुनिया का सबसे खतरनाक ड्रोन, बालाकोट एयरस्ट्राइक की तरह दुश्मनों को करेगा नेस्तनाबूद

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 July 2019, 20:12 IST

भारत एक ऐसे खतरनाक ड्रोन का निर्माण करने पर काम कर रहा है जो बिना किसी नुकसान के बालाकोट एयर स्ट्राइक जैसे हमले को अंजाम दे सकता है. इस हमले के लिए अब भारतीय पायलटों की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. आज से एक दशक बाद ऐसा वक्त आ सकता है, जब भारतीय मानवरहित ड्रोन विमानों का झुंड दुश्मन के इलाके में घुसकर अपने टार्गेट को नेस्तनाबूद कर देगा.

ये ड्रोन अत्याधुनिक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एल्गोरिदम की मदद से काम करेंगे. भारतीय कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट पर काम कर रही है. इसके सफल होने पर भारतीय वायुसेना की ताकत में कई गुना इजाफा होगा. एक तरह से ये ड्रोन दुनिया के सबसे खतरनाक ड्रोन कहे जा रहे हैं.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड बेंगलुरू की स्टार्ट अप कंपनी 'न्यू स्पेस रिसर्च टेक्नोलॉजी' के साथ मिलकर इस खास प्रोजेक्ट पर रिसर्च कर रही है. ड्रोन की खासियत होगी कि इसमें किसी पायलट की जरुरत नहीं होगी. यह पूरी तरह से आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर आधारित होगा.

ये ड्रोन 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से उड़ सकेंगे. स्पेशल बैटरी की वजह से ये कई घंटे तक बिना किसी रुकावट अपना काम कर सकेंगे. स्वार्म ड्रोन दुश्मनों पर झुंड में हमला करेंगे. इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि दुश्मन इन ड्रोन्स को देख भी लेगा तो कुछ ड्रोन्स को डिटेक्ट करके मार पाएगा, लेकिन ज्यादातर ड्रोन्स दुश्मन के डिफेंस सिस्टम को मात दे देंगे.

इससे किसी भी मिशन की सफलता के चांसेस ज्यादा होंगे. इन ड्रोन्स को ALFA-S (Air Launched Flexible Asset या Swarm) नाम दिया गया है. इसमें 1 से 2 मीटर लंबे मुड़ने वाले पंख होंगे. इन ड्रोन्स को किसी विमान से लॉन्च किया जाएगा. ये विमान के विंग्स में लगे होंगे. यहां से ये ड्रोन अपने टारगेट को पहचान कर उस पर सुसाइडल अटैक करेंगे.

मोदी सरकार ने देश के 40 करोड़ लोगों को दिया तोहफा, बदला ये कानून, महिलाओं के लिए बड़ी सौगात

RSS की साखा पर हमला, दूसरे समुदाय के लोगों ने लाठी-डंडों से की जमकर पिटाई

First published: 12 July 2019, 20:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी