Home » इंडिया » Indian mountaineer Anita Kundu host the national flag on world’s highest peak mount Everest third time
 

भारत की इस बेटी ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी पर तीसरी बार फहराया तिरंगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 May 2019, 12:25 IST

भारत की बेटियां हर क्षेत्र में देश का नाम रौशन कर रही है. हाल ही में देश की एक बेटी ने एक बार फिर से दुनियाभर में भारत का मान बढ़ाया है. देश की इस बेटी का नाम है अनीता कुंडू. हरिणाया की रहने वाली अनीता कुंडू ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी 'माउंट एवरेस्ट' को  फतेह करने का रिकॉर्ड बनाया है वो भी एक-दो नहीं बल्कि अनीता ने तीन बार एवरेस्ट पर तिरंगा फहराया है.

अनीता ने ये सफलता चार प्रयासों में पाई है. यही नहीं अनीता कंडू हरियाणा की ऐसी पहली महिला भी बन गई हैं जिन्होंने माउंट एवरेस्ट को फतेह किया है. साथ ही अनीता ऐसी पहली भारतीय भी बन गई हैं जिसने नेपाल और चीन के रास्ते से माउंट एवरेस्ट फतेह किया हो. बता दें कि अनीता कुंडू ने 21 मई की सुबह सात बजे दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहराया. अपने इस मिशन को पूरा करने में अनीतो को पूरे 36 दिन तक लंबा संघर्ष करना पड़ा.

बता दें कि अनीता ने माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई नेपाल में लुकला एयरपोर्ट से शुरू की थी. लुकला से बेस कैंप तक की चढ़ाई उन्होंने 12 दिन में पूरी की. उसके बाद अनाती ने बेस कैंप से 5 मई को चढ़ना शुरू किया, लेकिन 7 मई को बर्फीले तूफान की वजह से वो आगे नहीं बढ़ पाईं. उसके बाद उन्हें बेस कैंप में वापस लौटना पड़ा.

अनिता दोबारा से दस मई को 10 मई को चढ़ाना शुरु किया. लेकिन 12 मई को फिर मौसम खराब हो गया. वो फिर से बैस केंप वापस आ गईं. तीसरी बार उन्होंने 16 मई को बेस कैंप से फिर से चढ़ना शुरु किया

उसके बाद अनीता ने 21 मई की सुबह दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा दिया. इस बार अनीता की टीम में अलग-अलग देशों के 14 लोग शामिल थे और वह सबको लीड कर रही थीं

जिसमें से कुल चार सदस्य ही एवरेस्ट को फतेह कर पाएबता दें कि अनीता हरियाणा के हिसार जिले के फरीदपुर गांव की रहने वाली हैं और वह हरियाणा पुलिस में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं.

अनीता ने पहली बार साल 2013 में नेपाल के रास्ते एवरेस्ट फतेह किया था. उसके बाद साल 2017 में उन्होंने चीन के रास्ते एवरेस्ट पर चढ़ाई की थी. इससे पहले अनीता ने साल 2015 में भी एवरेस्ट पर चढ़ाई की थी लेकिन 22 हजार फुट की चढ़ाई के बाद तूफान के कारण उन्हें रास्ते से लौटना पड़ गया था.

हैदराबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आरक्षण समिति के अध्यक्ष की पिटाई, मुकदमा दर्ज

First published: 22 May 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी