Home » इंडिया » indian navy rejects indian fighter plane tejas due to over weight
 

'ओवरवेट' होने के कारण नेवी ने स्वदेशी युद्धक विमान तेजस को किया ख़ारिज

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:45 IST
(फाइल फोटो )

भारतीय नौसेना ने स्वदेशी युद्धक विमान तेजस को शामिल करने से इनकार करते हुए इसे रिजेक्ट कर दिया है. नौसेना के अनुसार तेजस के 'ओवरवेट' होने के कारण इस फाइटर एयरक्राफ्ट को ऑपरेट करने में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है. नौसेना ने अगले पांच वर्षों में इसका विकल्प ढूंढने की भी बात कही है.

नौसेना के एडमिरल सुनील लांबा ने कहा कि तेजस नेवी की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा है. उन्होंने स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान तेजस को अपने विमानवाहक पोतों पर तैनात करने की संभावना को खारिज कर दिया है.

नौसेना के अनुसार सिंगल इंजन वाला तेजस काफी भारी है और एयरक्राफ्ट कैरियर डेक से फुल टैंक ईंधन और आयुधों के साथ उड़ान भरने की जरूरतों को पूरा करने में अक्षम है.

नौसेना प्रमुख ने कहा कि नौसेना एक वैकल्पिक विमान को लेकर विचार कर रही है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि हम डीआरडीओ, हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स (एचएएल) और ऐरोनॉटिकल डेवेलपमेंट एजेंसी को सपोर्ट करते रहेंगे.

फिलहाल नौसेना ने अपने बेड़े में रूस से खरीदे गए 45 'मिग-29 के' युद्धक विमानों में से 30 को शामिल किया है. मिग-29के और तेजस के आईएनएस विक्रमादित्य और 2019-20 तक तैयार होने वाले आईएनएस विक्रांत से परिचालित किए जाने की बात की गई थी.

नौसेना प्रमुख लांबा ने कहा कि हम अपने दो विमानवाहक पोतों से हल्के लड़ाकू विमान (तेजस) के ऑपरेशन की उम्मीद करते हैं. उन्होंने आगे कहा कि नौसेना ऐसे एयरक्राफ्ट की पहचान करने में लगी है जो ऑपरेशन में खरा उतरे.

First published: 3 December 2016, 11:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी