Home » इंडिया » Indian Navy successfully test MRSAM surface to air missile
 

दुश्मन के लड़ाकू विमान और हेलिकॉप्टर को हवा में ही मार गिराएगी भारत की ये मिसाइल

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 May 2019, 11:48 IST

भारतीय नौसेना अब दुश्मन की मिसाइल, लड़ाकू विमान, हेलिकॉप्टर और ड्रोन्स को हवा में ही मार गिराएगी. शुक्रवार को नौसेना ने मध्‍यम दूरी की जमीन से हवा में मार करने वाली मीडियम रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (MRSAM) का सफल परीक्षण किया.

MRSAM मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद भारतीय नौसेना दुनियाभर के उन देशों में शामिल हो गई है जिनके पास जमीन से हवा में मार करने वाली क्षमता की मिसाइल है. बता दें कि ये मिसाइल 70 किलोमीटर के दायरे में आने वाली मिसाइलों, लड़ाकू विमानों, हेलीकॉप्टरों, ड्रोन के अलावा निगरानी विमानों और अवाक्स को हवा में ही मार गिराएगी. यही नहीं ये मिसाइल हवा से एकसाथ आने वाले कई दुश्मनों पर 360 डिग्री में घूमकर एक साथ हमला करने की क्षमता से लैस है.

शुक्रवार को नौसेना के जहाज INS कोच्चि और INS चेन्‍नई ने पश्चिमी समुद्र तट पर इस मिसाइल का सफल परीक्षण किया. इस दौरान MRSAM से विभिन्‍न हवाई टारगेट को हवा में ही मारने का परीक्षण किया गया. बता दें कि भारतीय नौसेना के लिए इस मिसाइल को इजरायल एयरोस्‍पेस इंडस्‍ट्रीज के सहयोग से डीआरडीएल हैदराबाद और डीआरडीओ ने संयुक्‍त रूप से विकसित किया हैबता दें कि इस मिसाइल का निर्माण भारत डायनामिक्‍स लिमिटेड ने किया है. इन मिसाइलों को कोलकाता क्लास के विध्‍वंसक युद्धपोत में लगाया जा सकता है. यही नहीं भविष्‍य में नौसेना के सभी युद्धपोतों में भी इस मिसाइल का प्रयोग किया जाएगा.

जानिए क्या है MRSAM मिसाइल की खूबियां

MRSAM मिसाइस दुश्मन के विमानों और मिसाइलों को 70 किलोमीटर के दायरे में आने पर हवा में ही मार गिराएगी. ये मिसाइल हर मौसम में काम करने में सक्षम है. यानि बारिश और कोहरा का भी इसकी कार्य क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ेगा. MRSAM 360 डिग्री पर घूमकर हर तरह के खतरों से निपटने में सक्षम है. जो 2469.6 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से टारगेट पर हमला करेगी. इस मिसाइल का वजन 276 किलोग्राम है. इसकी लंबाई 14.76 फीट लंबी है.

सेना के हेलिकॉप्टर से केदारनाथ पहुंचे पीएम मोदी, अनोखे अंदाज में नजर आए 'प्रधान सेवक'

First published: 18 May 2019, 11:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी