Home » इंडिया » Indian Railway spend 22 thousand caught to per rats on tracks in Chennai Division
 

चूहों पर पानी की तरह पैसा बहाती है इंडियन रेलवे, एक चूहा पकड़ने पर खर्च होते हैं 22 हजार रुपये

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 October 2019, 12:12 IST

भारतीय रेलवे चूहों को पकड़ने के लिए पानी की तरह पैसा बहाती है, इसके बावजूद रेल स्टेशनों और ट्रैकों पर चूहों की भरमार रहती है. आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि भारतीय रेलवे प्रति चूहा पकड़ने के लिए 22 हजार रुपये खर्च कर देती है. RTI से यह खुलासा हुआ है. रेलवे की चेन्नई डिवीजन चूहे पकड़ने के लिए भारी-भरकम रकम खर्च कर रहा है.

रेलवे के चेन्नई डिवीजन ने एक आरटीआई के जवाब में यह जानकारी दी है. भारतीय रेलवे चूहों से इतनी परेशान है कि उनको पकड़ने के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर देती है. भारतीय रेलवे ने 35-35 लाख रुपये की 3 ऐसी मशीनें खरीदी हैं, जिनसे चूहे पकड़े जा सकें. 

भारतीय रेलवे अभी और ऐसी ही मशीनें खरीदने की योजना बना रही है. ये चूहे ट्रेनों और यात्रियों के लिए जानलेवा साबित हो रहे हैं. चेन्नई डिवीजन ऑफिस ने आरटीआई का जवाब देते हुए कहा कि वह काफी समय से चूहों से परेशान है.

चेन्नई डिवीजन ऑफिस ने बताया कि रेलवे स्टेशन और इसके कोचिंग सेंटर में भी चूहे काफी परेशान करते हैं. डिवीजन ने बताया मई 2016 से अप्रैल 2019 तक उन्होंने 5.89 करोड़ रुपये खर्च किए हैं. डिवीडन ने बताया कि सिर्फ 2018-19 में ही उन्होंने 2636 चूहे पकड़े हैं.

इसमें 1715 चूहे चेन्नई सेंट्रल, चेन्नई एग्मोर, चेंगलपट्टू, तामब्रम और जोलारपेट रेलवे स्टेशन से पकड़े गए हैं. जबकि रेलवे के कोचिंग सेंटर से 921 चूहे पकड़े गए हैं. चेन्नई डिवीजन ने एक चूहा पकड़ने के एवज में औसतन 22,344 रुपये खर्च किए.

बच्चों को पिलाते हैं ऐसा दूध तो हो जाएं सावधान, किडनी खराब होने से जा सकती है जान

BSNL के कर्मचारियों के लिए बहुत बुरी खबर, कंपनी को जल्द ही बंद कर सकती है मोदी सरकार !

First published: 10 October 2019, 17:10 IST
 
अगली कहानी