Home » इंडिया » Indian Railway to re launch special Sri Ramayana Express trains know here fare and route map
 

रामायण सर्किट स्पेशल टूरिस्ट ट्रेन आज से शुरु, जानिए रूप मैप और किराया

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 November 2019, 14:11 IST

अगर आप रामायण काल से जुड़े तीर्थ स्थलों का भ्रमण करना चाहते हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. दरअसल, भारतीय रेलवे ने भगवान राम से संबंधित तीर्थ स्थलों का दर्शन कराने वाली ‘श्री रामायण यात्रा’ ट्रेन को एक बार फिर से शुरु कर दिया है. इस ट्रेन को रेलवे ने पिछले साल भी चलाया था. जिसमें लोगों ने खूब दिलचस्पी दिखाई. इसी के चलते रेलवे ने इस ट्रेन को दोबारा से चलाने का निर्णय लिया है. इस ट्रेन को आज यानी रविवार तीन नवंब से फिर से शुरु कर दिया गया है.

बता दें कि इस ट्रेन को रविवार से जयपुर शुरु किया गया है, उसके बाद श्री रामायण यात्रा ट्रेन दिल्ली पहुंचेगी. इस यात्रा में यात्रियों को दो पैकेज दिए गए हैं. पहले पैकेज में यात्री देश के भीतर के भगवान राम से जुड़े तीर्थ स्थलों का दर्शन करेंगे. वहीं दूसरे पैकेज के यात्री इन तीर्थ स्थलों के अलावा श्रीलंका स्थित भगवान राम से जुड़े स्थलों का भी दर्शन कर सकेंगे. श्रीलंका के लिए आईआरसीटीसी ने हवाई यात्रा का अलग इंतजाम किया है.

हालांकि इस ट्रेन से केवल सात शहरों के यात्री ही यात्रा कर पाएंगे. क्योंकि ये ट्रेन जयपुर से चल कर अलवर, रेवाडी, दिल्ली सफदरजंग, ग़ाजियाबाद, मुरादाबाद, बरेली होते हुए लखनऊ में यात्रियों को लेगी. इसके बाद की यात्रा में नए यात्री शामिल नहीं हो सकेंगे. इसमें यात्री भगवान राम से जुड़े 'रामायण पथ' को देख सकेंगे. जिसमें प्रमुख स्थलों में अयोध्या स्थित राम जन्मभूम और हनुमानगढ़ी, नंदीग्राम में भारत मंदिर, बिहार के सीतामढ़ी में सीता मंदिर, नेपाल का जनकपुर, वाराणसी का तुलसी मानस मंदिर और संकटमोचन मंदिर, यूपी के सीतामढ़ी का सीता समाहित स्थल, प्रयाग का त्रिवेणी संगम, हनुमान मंदिर, भारद्वाज आश्रम, श्रिंगवेरपुर में शृंगी ऋषि आश्रम, चित्रकूट में रामघाट और सतिअनसुईया मंदिर, नासिक में पंचवटी, हम्पी में अंजनाद्री हिल्स, हनुमान जनम स्थल और रामेश्वरम में ज्योतिर्लिंग शिव मंदिर शामिल हैं.

तीन नवंबर से शुरु हुआ ये टूर 16 रातों और 17 दिनों का होगा. इस ट्रेन में कुल 800 यात्रियों ही सफर कर सकेंगे. भारतीय सीमा के अंतर्गत सभी तीर्थ स्थलों के लिए जयपुर से प्रति यात्री किराया 16065 रूपए है. जिसमें तीर्थ यात्रियों को खाने और तीर्थ स्थलों तक जाने आने की बस की व्यवस्था और धर्मशाला की व्यवस्था आईआरसीटीसी की ओर से की गई है. इसके लिए यात्रियों से कोई शुल्क अलग से नहीं वसूला जाएगा.

वहीं जिन तीर्थ यात्रियों को श्रीलंका में भगवान राम से जुड़े स्थलों का भी भ्रमण करना है उन्हें 17 वें दिन चेन्नई में ट्रेन से उतार कर इकॉनमी क्लास से श्रीलंका एयरलाइंस के हवाई जहाज से कोलम्बो ले जाया जाएगा. वहां उन्हें तीन अलग-अलग स्थलों पर तीन रातों के लिए होटलों में ठहराया जाएगा.

श्रीलंका की इस यात्रा के लिए अलग से कुल टिकट प्रति व्यक्ति 36950 रुपए रखा गया है. वहीं श्रीलंका टूर के लिए इसमें 40 सीटें ही रखी गई हैं. श्रीलंका के प्रमुख तीर्थ स्थलों में सीता माता मंदिर, अशोक वाटिका, विभीषण मंदिर और मुन्नेश्वरम-मुन्नावरी स्थित शिव मंदिर दिखाए जाएंगे.

दिल्ली के बाद अब UP की वायु गुणवत्ता बिगड़ी, लोगों को आने लगे चक्कर

शिवसेना का दावा- उनके पास 170 विधायकों का समर्थन, NCP कर सकती है समर्थन

First published: 3 November 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी