Home » इंडिया » Indian railways introduces new bio metric system for general coach in train for passengers
 

ट्रेन की जनरल बोगी में भी मिलेगी आसानी से सीट, रेलवे शुरु कर रहा है ये नया सिस्टम

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2019, 10:25 IST

ट्रेनों के जनरल कोच में यात्रा करने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है. रेलवे जल्द ही एक ऐसा नियम बनाने जा रहा है जिससे यात्रियों को जनरल कोच में भी आसानी से सीट मिल सकेगी. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी दी है. उन्होंने ट्वीट में बताया है कि रेलवे अब जनरल कोच में सीट के लिए नई बायोमेट्रिक सिस्टम लागू कर रहा है. जिससे पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर यात्रियों को सीटें दी जाएंगी. इस सिस्टम के लागू होते ही यात्रियों को इससे बहुत लाभ होगा. फिलहाल रेलवे ने मुंबई से लखनऊ के बीच चलने वाली पुष्पक एक्सप्रेस में इसकी शुरुआत कर दी है.

बता दें कि ट्रेन के जनरल कोच में चलने वाले यात्रियों के बीच अक्सर सीट को लेकर मारपीट हो जाती है. ऐसे में रेलवे की इस पहल से लोगों को यात्रा करने में आसानी ही नहीं होगी बल्कि सीट मिलने सहित आपस में मारपीट जैसी घटनाएं रोकने में भी मदद मिलेगीइसके लिए सबसे पहल मुंबई-लखनऊ पुष्पक एक्सप्रेस में बायोमेट्रिक की सफलता का आंकलन किया जाएगा.

 जिसके बाद जल्द ही ये व्यवस्था अन्य सभी ट्रेनों के जनरल कोच में लागू कर दी जाएगी. इस सिस्टम के तहत टिकट खरीदते वक्त यात्रियों का बायोमेट्रिक मशीन से अंगुलियों के निशान स्कैन करवाए जाएंगे. जिससे एक टोकन जनरेट होगा. जनरेट हुए टोकन की कुल संख्या एक विशेष जनरल डिब्बों में उपलब्ध सीटों की संख्या के अनुरूप ही होगी.

उसके बाद प्लेटफॉर्म पर ट्रेन के लगने से कुछ मिनट पहले यात्रियों को टोकन पर अपने सीरियल नंबर के मुताबिक, एक कतार में इकट्ठा होना होगा. वहीं किसी परेशानी से बचने के लिए जनरल कोच के दरवाजों पर आरपीएफ स्टाफ टोकन क्रमांक की पुष्टि करेगा. उसके बाद वह यात्रियों को कोच में चढ़ने की अनुमति देगा.

इस सिस्टम के लागू होने के बाद देर से पहुंचने वाले यात्रियों को भी जनरल कोच में बैठने दिया जाएगा. हालांकि उन्हें बैठने के लिए सीट नहीं मिल पाएगी. ऐसे में उन्हें खड़े होकर या जमीन पर बैठकर यात्रा करनी पड़ेगी. इस व्यवस्था के लागू होने से जनरल बोगी में होने वाली भीड़ से भी यात्रियों को निजात मिलेगी. हालांकि इस व्यवस्था के ट्रेनों में लागू करने को लेकर सवाल उठ रहे हैं. लोगों का कहना है कि बायोमेट्रिक के द्वारा उनका पूरा निजी डाटा सरकार के पास पहुंच जाएगा. जिससे उनकी निजता खतरे में पड़ सकती है.

BSNL का अपने अफसरों को आदेश- इकोनॉमी क्लास में करें हवाई यात्रा

First published: 30 July 2019, 10:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी