Home » इंडिया » Indian Railways plans to build first vertical-lift bridge, Here’s how it will look
 

मोदी सरकार बनाने जा रही है ये अनोख पुल, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्विटर पर दी जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 January 2019, 14:02 IST

इंडियन रेलवे रामेश्वरम से देश के प्रमुख हिस्सों को जोड़ने वाला देश का पहला वर्टिकल लिफ्ट ब्रिज बनाने के लिए पूरी तरह तैयार है. 104 साल पुराने पम्बन ब्रिज की जगह नया वर्टिकल-लिफ्ट ब्रिज जहाजों और स्टीमर को बिना किसी बाधा के गुजरने में मदद करेगा. दो किलोमीटर लंबे इस पुल की लागत 250 करोड़ रुपये होगी और अगले चार वर्षों में इसके तैयार होने की उम्मीद है.

क्या खास है वर्टिकल-लिफ्ट ब्रिज

1- नए पुल में 63 मीटर का खिंचाव होगा जो जहाजों तक पहुंच की अनुमति देने के लिए डेक के समानांतर ऊपर उठाएगा. इसमें 18.3 मीटर के 100 स्पैन और 63 मीटर की एक नेविगेशनल स्पेन होगी.

 

2- मौजूदा पुल 2,058 मीटर लंबा है और इसका उपयोग 100 से अधिक वर्षों से किया जा रहा है. चूंकि यह पिछले कुछ वर्षों से लगभग गैर-परिचालन है, इसलिए भारतीय रेलवे ने नए वर्टीकल पुल की योजना बनाई है.

3- भारत का पहला वर्टिकल-लिफ्ट पुल मौजूदा पुल की तुलना में तीन मीटर अधिक ऊंचा होगा, जिसमें समुद्र तल से 22 मीटर ऊपर नौवहन हवा की निकासी होगी.

4- पम्बन पुल में शेज़र की रोलिंग लिफ्ट तकनीक का उपयोग किया जाता है जिसमें पुल क्षैतिज रूप से खुलता है. नए पुल में, 63-मीटर सेक्शन डेक के समानांतर शेष ऊपर की ओर उठा होगा. यह प्रत्येक एंड में सेंसर का उपयोग करके किया जाएगा.
5- पीटीआई के अनुसार भारतीय रेलवे के विद्युतीकरण योजना को ध्यान में रखते हुए, नौवहन अवधि सहित पूरे पुल को डिजाइन किया जाएगा.

6- मौजूदा पुल को मैन्युअल रूप से संचालित किया जा रहा है. हालांकि नए पुल में इलेक्ट्रो-मैकेनिकल नियंत्रित सिस्टम होंगे जो ट्रेन नियंत्रण प्रणालियों के साथ इंटरलॉक किए जाएंगे.

First published: 5 January 2019, 14:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी