Home » इंडिया » Indian Railways sets new safety record when less than 100 accidents recorded in a year
 

बीते वित्त वर्ष में रेल दुर्घनाओं में आयी रिकॉर्ड कमी, पहली बार दोहरे अंकों में रहा आंकड़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 April 2018, 12:53 IST
(File photo)

भारतीय रेलवे ने इस वित्त वर्ष में सबसे कम दुर्घटनाओं का रिकॉर्ड बनाया है. पिछले 35 सालों में ये पहली बार हुआ है कि भारतीय रेलवे सर्वोत्तम सुरक्षा रिकॉर्ड के साथ वित्त वर्ष पूरा किया हो. पिछले साल हुई कुछ दुर्घटनाओं की वजह से रेलवे की छवि को झटका लगा था. लेकिन बीते वित्त वर्ष में दुर्घटनाओं में कमी दर्ज की गई जो सिमट कर दो अंकों तक पहुंच गई.

बता दें कि वित्त वर्ष 2017-18 में इस साल 30 मार्च तक देशभर में 73 ट्रेन दुर्घटनाएं हुईं. जो वित्त वर्ष 2016-17 में 104 थी. इस तरह बीते वित्तवर्ष में रेलवे की दुर्घटनाओं में 29 फीसदी की कमी दर्ज की गई. 1968-69 में पहली बार 908 रेल दुर्घटनाओं के साथ ये आंकड़ा तीन डिजिट में पहुंच गया था. जो पहले की 1,111 था.

उसके बाद साल 1980-81 में ये आंकड़ा एक बार फिर 1,073 दुर्घनाओं के साथ चार चार अंकों में पहुंच गया. लेकिन अगले ही साल रेल दुर्घटनाओं में कमी दर्ज की गई जो 1981-82 में 797 रहा.

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी बताते हैं कि रेलवे सुरक्षा पर लगातार जोर दे रहा है. उन्होंने कहा कि हमने रेलवे के हर कर्मचारी को सुरक्षा संबंधित सूचना देने का अधिकार दिया है. जो पूरे देश में चलाया जा रहा है.

बता दें कि पिछले साल रेलवे दुर्घटनाओं में आई कमी वित्त वर्ष 2016-17 के मुकाबले कम है. जो 2016के नवंबर महीने में इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटना में मारे गए 150 लोगों से भी कम है. पिछले वित्तवर्ष इस समय तक रेलवे में 68 दुर्घटनाएं दर्ज की गईं. इस साल 39 हो गई. वहीं मानव रहित क्रॉसिंग पर हुई 15 दुर्घटनाओं में कमी दर्ज की गई. जो अब मात्र 8 रह गई.

बता दें कि बीते वित्त वर्ष में पहली बार रेल दुर्घटना उस वक्त हुई जब अगस्त 2017 में उत्कल एक्सप्रेस ट्रेक से उतर गई थी जिसमें 20 लोगों की मौत हो गई थी. जिसके बाद तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु को इस्तीफा देना पड़ा था.

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी के इस अभियान से प्रभावित होकर दंपति ने बेटी का नाम रखा 'स्वच्छता'

First published: 1 April 2018, 12:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी