Home » इंडिया » Indian Urdu Poet Nida Fazli passes away
 

तुम ये कैसे जुदा हो गए, हर तरफ हर जगह हो गए: निदा फ़ाज़ली का निधन

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 February 2016, 20:47 IST

मशहूर उर्दू शायर और फिल्म गीतकार निदा फाजली का 77 वर्ष की उम्र में सोमवार को मुंबई में निधन हो गया. निदा फाजली का जन्म 12 अक्टूबर 1938 को दिल्ली में हुआ था.

फाजली को शायरी विरासत में मिली थी. उनके पिता भी शेरो-शायरी में दिलचस्पी लिया करते थे और उनका अपना काव्य संग्रह भी था.

फाजली 1964 में मुंबई आए. अपनी अनूठी शैली से लोगों की नजरों में आ गए. फाजली मीर और गालिब की रचनाओं से प्रभावित थे.

फिल्मी दुनिया में किया 10 साल तक संघर्ष

70 के दशक में उन्होंने फिल्मों के लिए लिखना शुरू किया. करीब दस साल के संघर्ष के बाद 1980 में आई फिल्म 'आप तो ऐसे न थे' से उन्हें पहली बड़ी सफलता मिली. पार्श्र्व गायक मनहर उधास की आवाज में इस फिल्म का गीत 'तू इस तरह से मेरी जिंदगी में शामिल है' सुपरहिट रहा.

इसके बाद संगीतकार खय्याम के संगीत निर्देशन में उन्होंने फिल्म आहिस्ता-आहिस्ता के लिए 'कभी किसी को मुक्कमल जहां नहीं' मिलता गीत लिखा. आशा भोंसले और भूपिंदर सिंह की आवाज में उनका यह गीत एवरग्रीन हिट साबित हुई.

गजल सम्राट जगजीत सिंह ने निदा फाजली के लिए कई गीत गाए थे. फाजली को पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया था.

First published: 8 February 2016, 20:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी