Home » इंडिया » Indira Awaas Yojana Scheme named after former PM Indira Gandhi to be closed
 

अब जल्द बंद हो जाएगी इंदिरा आवास योजना, अभी बनने बाकी हैं लाखों घर

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2018, 13:25 IST

इंदिरा गांधी के नाम से चल रही इंदिरा आवास योजना (आईएवाई) को सरकारी फाइलों में बंद कर दिया जाएगा. इसके लिए केंद्र सरकार ने 15 जून को सभी राज्यों से आईएवाई को बंद करने के लिए ताजे आंकड़े की मांग की है.

बता दें कि केंद्र सरकार ने 15 जून को सभी राज्यों को पत्र लिखकर जवाब मांगा है कि क्या आईएवाई के तहत लंबित आवासों को 31 मार्च 2018 तक बनाया जा चुका है. जिसके बारे में जनवरी में निर्देश जारी किए गए थे.

केंद्र ने कहा, "आईएवाई खातों के निपटारे और इस योजना को बंद करने को लेकर चर्चा और फैसला लेने के लिए एक मीटिंग बुलाई गई है. " साथ ही सरकार ने ऐसे आवासों की संख्या के बारे में भी जानकारी मांगी है, जिन्हें लाभार्थी की मौत या उसके हमेशा के लिए उस जगह को छोड़कर चले जाने से आईएवाई स्कीम के तहत कभी बनाया नहीं जा सका.

ये भी पढ़ें-शुक्रवार को सिर्फ यहां कम हुए पेट्रोल के दाम, जानिए आपके शहर में क्या है नया रेट

गौरतलब है कि 1985 में इस योजना की शुरुआत तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने अपनी मां और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम से शुरू किया था. जिसे नरेंद्र मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद, 1 अप्रैल 2016 को इस योजना का नाम बदलकर प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण (पीएमएवाई-जी) कर दिया था. हालांकि इस योजना का नाम तो बदल दिया गया था. लेकिन फाइलों में यह योजना अब भी जिंदा है. क्यों कि तब योजना के तहत 30 लाख और आवास बनाए जाने का कार्य लंबित था.

First published: 29 June 2018, 12:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी