Home » इंडिया » Patna-Indore train accident: Railway distribute old currency to injured passengers
 

इंदौर-पटना ट्रेन हादसा: रेलवे ने दुर्घटना पीड़ितों को बांटे पुराने नोट!

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2016, 11:44 IST
(पीटीआई)

मोदी सरकार की नोटबंदी का असर पटना-इंदौर रेल दुर्घटना पीड़ितों को भी झेलना पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि रेलवे विभाग ने पीड़ितों की आर्थिक सहायता के नाम पर 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट बांटे हैं.

बैन हो चुके इन पुराने नोटों से घायलों को दवा भी नहीं मिल पा रही है, जिससे घायलों के परिजन खासे गुस्से में हैं. उनका कहना है कि रेलवे सहायता के नाम पर उनके साथ मजाक कर रहा है.

कुछ घायलों के परिजनों का कहना है कि रेलवे ने जो पुराने नोट दिए हैं, वो कहीं भी चल नहीं रहे हैं. दवा के दुकानदार उन नोटों को लेने से इनकार कर रहे हैं. जिसकी वजह से वो दवा नहीं खरीद पा रहे हैं.

यह मामला घटनास्थल पर मौजूद रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के पास पहुंचा. इसके बाद उन्होंने आश्वासन दिया दिया कि रेलवे के द्वारा दिए गए पुराने नोट जल्द ही बदल दिए जाएंगे और संबंधित अधिकारियों के खिलाफ एक्शन भी लिया जायेगा.

गौरतलब है कि कानपुर के पास पुखरायां में हुए भीषण रेल हादसे के बाद मृतकों के परिजनों और घायल यात्रियों के लिए रेलवे के अलावा उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश की सरकारों ने भी मुआवजे का एलान किया है.

कानपुर देहात के जिलाधिकारी कुमार रविकांत सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रेल दुर्घटना में मरने वाले यात्रियों के आश्रितों को 5-5 लाख, गंभीर घायलों को 50-50 हजार रुपये और मामूली रूप से घायल लोगों को 25-25 हजार रुपये देने की घोषणा की है.

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार की यह आर्थिक सहायता रेलवे विभाग की ओर से दी जाने वाली सहायता से अतिरिक्त होगी.

वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रदेश के मृतकों के परिजनों को दो लाख, गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार और मामूली घायलों को 25 हजार रुपये आर्थिक मदद की घोषणा की है.

बिहार की नीतीश सरकार ने रेल हादसे में मरने वाले बिहार के लोगों के परिजनों को दो लाख, गंभीर घायलों को 50 हजार और सामान्य घायलों को 25 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है.

First published: 21 November 2016, 11:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी