Home » इंडिया » Industrialist Rahul Bajaj questions intolerance ki hawaa Amit Shah says lynchings not new
 

राहुल बजाज ने कहा- देश में हर तरफ डर का माहौल, गृहमंत्री अमित शाह ने दिया ये जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 December 2019, 14:09 IST

बजाज ग्रुप(Bajaj Group) के चेयरमैन राहुल बजाज (Rahul Bajaj) ने राजधानी दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि देश में सरकार की आलोचना करने की किसी में हिम्मत नहीं है. उन्होंने कहा कि ऐसे में हर तरफ डर का माहौल है. राहुल बजाज ने गृहमंत्री अमित शाह(Amit Shah) से कुछ और तीखे भी सवाल किये. मॉब लिंचिंग के अलावा उन्होंने साध्वी प्रज्ञा मामले में उचित कार्रवाई ना किये जाने का भी जिक्र किया.

दरअसल, एक न्यूज ऑर्गनाइजेशन ने दिल्ली में पुरस्कार समारोह का आयोजन किया था. इस कार्यक्रम में गृह मंत्री अमित शाह के अलावा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी हिस्सा लिया था. कार्यक्रम में कई उद्योगपति मौजूद थे, इनमें राहुल बजाज भी शामिल थे. इस दौरान उन्होंने गृहमंत्री से काफी तीखे सवाल किए.

राहुल बजाज ने गृहमंत्री के सामने कहा कि कोई भी इंडस्ट्रियलिस्ट दोस्त इस बारे में बात नहीं करेगा, लेकिन आज मैं खुले तौर पर यहां कहना चाहता हूं कि जब यूपीए-2 की सरकार थी तब हम किसी की भी आलोचना कर सकते थे. लेकिन आज ऐसा माहौल नहीं है. उन्होंने कहा कि आपकी सरकार अच्छा कर रही है, लेकिन इसके बावजूद हम खुले तौर पर आपकी आलोचना नहीं कर सकते हैं.

बजाज ग्रुप के चेयरमैन ने आगे कहा कि हो सकता है मैं गलत हूं, पर सभी यही महसूस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग, इंटॉरलेंस की हवा बनाती है और हम डरते हैं. हम कुछ चीजों को बोलना नहीं चाहते. लेकिन अभी तक इस केस में किसी को सजा नहीं मिली है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने जब प्रज्ञा ठाकुर को लेकर कहा था कि वह उन्हें कभी दिल से माफ नहीं करेंगे तो इसके बाद भी उन्हें रक्षा मामलों की परामर्श संसदीय समिति में क्यों रखा गया?

इन सबके जवाब में गृहमंंत्री अमित शाह ने कहा कि किसी को भी किसी से डरने की जरूरत नहीं है. उन्होंने राहुल बजाज से कहा कि अगर आप कह रहे हैं कि डर का माहौल बना है, तो हमें इस माहौल को बेहतर करने का प्रयास करना चाहिए. स्पष्ट तौर पर मैं इतना कहना चाहूंगा कोई किसी को डराना नहीं चाहता है और न ही किसी को डरने की ज़रूरत है.

इसके अलावा अमित शाह ने मॉब लिंचिंग के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि यह कोई नई चीज़ नहीं है. ये कहना भी गलत है कि अभी तक किसी को इस मामले में सजा नहीं मिली है. उन्होंने कहा कि पहले भी लिंचिंग होता था और आज भी होता है. आज शायद पहले से कम होता है. लिंचिंग वाले बहुत सारे केस चले और समाप्त हो गए. उन्होंने कहा कि लिंचिंग मामले में सजा भी हुई है लेकिन मीडिया में छापते नहीं हैं.

महाराष्ट्र: विधानसभा स्पीकर के चुनाव से पीछे हटी BJP, कांग्रेस विधायक नाना पटोले बने अध्यक्ष

'मिशन साउथ' के तहत तमिलनाडु पहुंचे जेपी नड्डा, दिग्गज एक्ट्रेस BJP में हुईं शामिल

First published: 1 December 2019, 13:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी