Home » इंडिया » Injured Police horse Shaktimaan passes away
 

विधायक की कथित पिटायी से घायल शक्तिमान की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2016, 20:19 IST

उत्तराखंड पुलिस के घुड़सवार दस्ते के घायल घोड़े शक्तिमान की आज मौत हो गई. शक्तिमान को कुछ दिन पहले अमरीका से लाया गया एक कृत्रिम पैर लगाया गया था. बताया जा रहा है कि इस घोड़े को गैंगरीन नाम की बीमारी हो गई थी .

बीजेपी के एक विधायक गणेश जोशी  पर देहरादून में विरोध प्रदर्शन के दौरान शक्तिमान की टांग तोड़ने का आरोप था.  घटना 14 मार्च की है जब बीजेपी के विधायक गणेश जोशी पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ विधानसभा का घेराव कर रहे थे और पुलिस का घुड़सवार दस्ता उन्हें रोकने के लिए तैनात था.

आरोप है कि बीजेपी विधायक ने घुड़सवार दस्ते में तैनात एक घोड़े की टांग पर लाठियों से हमला करके उसकी टांग तोड़ दी थी. घटना के कुछ घंटों बाद कुछ वीडियो सामने आए जिनमें मसूरी से बीजेपी के विधायक घोड़े पर लाठी से हमला करते दिखाई दे रहे थें.

इसक घटना के बाद बीजेपी विधायक गणेश जोशी की तस्वीरें सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हुई थी जिसपर लोगों की तीखी प्रतिक्रिया की थी.

सोशल मीडिया पर खबर के वायरल होने के बाद उत्तराखंड पुलिस ने गणेश जोशी के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ एनिमल क्रूअल्टी एक्ट के तहत मामला भी दर्ज किया था. इस मामले में आरोपी भाजपा विधायक को हिरासत में भी लिया गया था. लेकिन गणेश जोशी बाद में जमानत पर छूट गए थे.

घोड़े पर लाठियां बरसाने के आरोप के जवाब में विधायक गणेश जोशी ने विधानसभा में सफाई दी थी कि उन्होंने घोड़े पर लाठियां नहीं बरसायी थीं, बल्कि सुबह से प्यासा होने की वजह से वह गिर गया था. मैंने तो घायल घोड़े को पानी पिलाकर उसे खड़ा करने का प्रयास किया था.

मेनका गांधी ने भी देहरादून में पुलिस के घुड़सवार दस्ते में शामिल घोड़े के बर्बर पिटाई के आरोपी मसूरी के भाजपा विधायक गणेश जोशी को पार्टी से बर्खास्त करने की मांग की थीं. 

उन्होंने घोड़े के पिटाई के मामले में विधायक के खिलाफ देहरादून पुलिस के पास शिकायत भी दर्ज कराई थी. और राज्य के डीजीपी को भी पत्र लिखकर आरोपी विधायक गणेश जोशी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की.

मेनका गांधी जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्था द प्यूपिल फॉर एनिमल्स (पीएफए) की अध्यक्ष हैं.

First published: 21 April 2016, 20:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी