Home » इंडिया » International Tiger Day 2018: Know About The Tiger Population in India and It’s Conservation Law
 

International Tiger Day 2018 : जंगलों में धीरे-धीरे बढ़ रही है बाघों की चहल कदमी

सुहेल खान | Updated on: 29 July 2018, 14:37 IST

दुनिया में बाघों की संख्या तेजी से कम हो रही है. इसके लिए कहीं ना कहीं इंसानी सभ्यता ही जिम्मेदार है. भारत में भी बाघों की संख्या में तेजी से कमी आई थी. लेकिन पिछले कुछ सालों में सरकार की पहल के बाद बाघों की संख्या में फिर से बढ़ोतरी देखने को मिली है. साल 2014 में हुई बाघों की गणना के मुताबिक उत्तराखंड में सबसे ज्यादा 340 बाघ हैं, जबकि मध्य प्रदेश में 308 बाघ हैं. वहीं 2018 की गणना का काम अभी भी चल रहा है.

दुनियाभर में विलुप्त हो रही जानवरों प्रजातियों को संरक्षित करने के लिए अलग-अलग संस्थाएं उसके लिए एक दिन का निर्धारित करती है. इन्हीं में से एक दिन है अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस. जो हर साल 29 जुलाई को मनाया जाता है. जिससे बाघों को संरक्षित करने का लोगों को संदेश दिया जा सके. अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस की शुरुआत साल 2010 में रूस के शहर सेंट पीटर्सबर्ग में टाइगर समिट से हुई थी.

तेजी से घट रही बाघों की संख्या में बढ़ोतरी स्वतंत्र सामाजिक कार्यकर्ताओं, सरकारी नीतियों, वन्य जीव संरक्षण अधिनियम में सुधार और बढ़ती जागरुकता का ही नतीजा है, कि साल 2014 में जब आखिरी बार बाघों की गणना हुई तो देशभर में इनकी संख्या बढ़कर 2,226 पहुंच गई. यही नहीं इसके बाद भारत दुनियाभर के देशों में सबसे अधिक बाघों की आबादी वाला देश भी बन गया.

बता दें कि 2010 में जब बाघों के संरक्षण की शुरुआत हुई तब भारत में इनकी संख्या 1706 थी. बताया जा रहा है कि इस बार भी यह संख्या बढ़ सकती है. भारतीय वन्य जीव संस्थान (डब्ल्यूआईआई) के वरिष्ठ वन्यजीव वैज्ञानिक वाई वी झाला के मुताबिक देश में बाघों के लिये पर्याप्त वन क्षेत्र है लेकिन समस्या उनके भोजन के आधार में है.

अगर हम बाघों के संरक्षण के लिए उचित कदम उठाएंगे तभी देश के राष्ट्रीय पशु बाघ को संरक्षित कर पाएंगे. विशेषज्ञ मानते हैं कि बाघों के संरक्षण के लिए अवैध शिकार घटते वन क्षेत्र और विकास परियोजनाओं को लेकर सख्ती करने की जरूरत है. अगर हम इन बातों को ध्यान रखेंगे तो देश में बाघों की संख्या को और बढ़ता हुुआ पाएंगे.

ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: मां की गुहार से पिघले आतंकी, अगवा SPO को छोड़ा बाकियों को दी नौकरी छोड़ने की धमकी

First published: 29 July 2018, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी