Home » इंडिया » Interpol issues Red Corner Notice to Nirav Modi’s brother Nehal modi
 

PNB scam: अब ED के शिकंजे में नीरव मोदी का भाई, इंटरपोल ने भेजा रेड कॉर्नर नोटिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 September 2019, 12:21 IST

इंटरपोल ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में कथित रूप से 13,600 करोड़ रुपये के फर्जी बैंक लेनदेन के मामले में भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी के भाई नेहल मोदी के नाम रेड कार्नर नोटिस जारी किया है. बेल्जियम के नागरिक 40 वर्षीय नेहल पर कथित रूप से मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है.

नेहल मोदी इस समय अमेरिका में छुट्टियां मना रहा है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पीएनबी फर्जीवाड़े में नीरव मोदी का साथ देने को लेकर नेहल मोदी की भूमिका की जांच क्र रहा है और उसने इंटरपोल से नोटिस भेजने का अनुरोध किया था. ईडी ने पाया है कि नेहल ने जानबूझकर लूट को छिपाने और सबूत नष्ट करने में नीरव की सहायता की.

नेहल की भूमिका का पता लगाते हुए ईडी ने अपनी शिकायत में कहा था कि 'पंजाब नेशनल बैंक में 13,600 करोड़ रुपये के घोटाले के बाद नीरव मोदी के भाई नेहल मोदी ने दुबई और हांगकांग के सभी डमी निर्देशकों के सभी सेलफोन नष्ट कर दिए और कैरो के लिए उनके टिकटों की व्यवस्था की.

इससे पहले मीडिया में रिपोर्ट आयी थी कि नीरव मोदी ने विदेशों में 15 से अधिक डमी कंपनियों का निर्माण किया था, जो कथित तौर पर निर्यात-आयात लेनदेन की आड़ में पीएनबी के पत्रों (LoU) के माध्यम से अर्जित धन को घुमाने के लिए ले गए थे.

एजेंसी ने अब इन कंपनियों के कम से कम 17 डमी निदेशकों की पहचान की है. ये सभी डमी निर्देशक या तो नीरव की फर्मों के कर्मचारी या पूर्व कर्मचारी हैं, जिन्होंने इस काम के लिए 8,000 रुपये से 30,000 रुपये प्रति माह का वेतन अर्जित किया.

पाकिस्तान से प्याज मंगाने की है तैयारी, भड़के किसान, पूछा- किसान उससे बड़े दुश्मन हैं ?

First published: 13 September 2019, 12:11 IST
 
अगली कहानी