Home » इंडिया » IPS Bharti Ghosh: Never used to say Mamta to mother, BJP joining execution in corruption
 

IPS भारती घोष: कभी ममता को कहती थी मां, भ्रष्टाचार में फंसी तो जॉइन कर ली बीजेपी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2019, 11:32 IST

कभी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की करीबी मानी जाने वाली आईपीएस भारती घोष सोमवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की उपस्थिति ने घोष ने दिल्ली में बीजेपी जॉइन की. उनके बीजेपी में शामिल होने के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कहा कि ''पश्चिम बंगाल में BJP का बढ़ता परिवार! पूर्व IPS भारती घोष जी का भाजपा परिवार में स्वागत है''.

वर्तमान में घोष आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) की जांच के दायरे में हैं, जबकि उनके पति राजू हिरासत में हैं. इससे पहले सारदा घोटाले में पूर्व टीएमसी नेता मुकुल रॉय का नाम आया था, और वह बाद में बीजेपी में शामिल हो गए थे. इसी कड़ी में असम के वित्त हेमंता विस्वसरमा का नाम आया था तब वह कांग्रेस पार्टी में थे और बाद में उन्होंने बीजेपी जॉइन कर ली थी. 

हालांकि सारदा घोटाले में इनपर सीबीआई की जांच कहां तक पहुंची यह सामने नहीं आ पाया है. भारती घोष वह आईपीएस अफसर हैं जिनके पास से बीते साल फरवरी में सीआईडी ने 2.5 करोड़ की नकदी बरामद की थी. इस कैश की घोष ने कहीं कोई जानकारी नहीं दी थी.

सीआईडी उन्हें मोस्ट वांटेड तक करार दे चुकी है. यही नहीं सीआईडी को घोष के घर से जांच के दौरान 300 करोड़ की जमीन के दस्तावेज भी मिले. उनके खिलाफ एक धोखधडी की शिकायत भी दर्ज की गई है. घोष टीएमसी की बेहद करीबी मानी जाती थी, एक मीटिंग के दौरान उन्होंने ममता को मां तक कह दिया था. बीजेपी में उन्हें शामिल करवाने में मुकुल रॉय की बड़ी भूमिका मानी जाती है.

पश्चिम बंगाल की राजनीति में तब हलचल मच गई जब एक ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया में वायरल होने लगी. वह ऑडियो क्लिप एक टेलीफोन-संवाद है, बंगाली अख़बार आनंद बाजार पत्रिका के अनुसार इसमें एक आवाज़ स्पष्ट रूप से भाजपा के अखिल भारतीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की आवाज से मिलती है. जबकि अन्य व्यक्ति मुकुल रॉय माने जा रहे हैं.

अक्टूबर 2018 में प्रकशित रिपोर्ट के अनुसार उस क्लिप की सच्चाई का सत्यापन नहीं किया गया है, कैच न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता है लेकिन अख़बार के अनुसार मुकुल रॉय ने स्वीकार कर लिया यह कैलाश के साथ यह उनकी बातचीत है. उन्होंने शिकायत की कि उनका फोन टेप किया जा रहा है. इसमें मुकुल रॉय कैलाश विजय वर्गीय से कहते हैं कि ''चार IPS हैं, उनपे CBI को थोड़ा नज़र डालना होगा. इसमें अगर एक बार ध्यान देंगे, तो यह IPS लोग डर जायेंगे''
First published: 6 February 2019, 11:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी