Home » इंडिया » IRCTC will stop free Travel insurance from tomorrow on online ticket booking
 

रेलवे का बड़ा झटका: इस मुफ्त सेवा का आज आखिरी दिन, कल से नहीं मिलेंगी ये सुविधाएं

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 August 2018, 10:30 IST

भारतीय रेलवे ने यात्रियों को मुफ्त में दी जाने वाली ट्रैवेल इंश्योरेंस की सुविधा को खत्म करने का फैसला किया है. 1 सितम्बर से ऑनलाइन टिकट बुकिंग पर मिलने वाली ये मुफ्त ट्रैवेल इंश्योरेंस की सुविधा को खत्म कर दिया जाएगा. यानी कि आज इस मुफ्त सेवा का आखिरी दिन है.

गौरतलब है की भारतीय रेलवे ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग को लेकर एक बड़ा कदम उठाया है. रेलवे ऑनलाइन टिकट बुकिंग के साथ मिलने वाली कुछ फ्री सेवाओं को 1 सितम्बर से बंद कर देगी.

भारतीय रेलवे से सफर करने के लिए जब आप irctc.co.in से ऑनलाइन टिकट बुकिंग करते है तो ट्रेवल इंश्योरेंस भी मिलता है. लेकिन अब ये फ्री में मिलने वाली सेवा रेलवे बंद कर देगी. रेलवे अब से ऑनलाइन टिकट बुकिंग पर किसी तरह के ट्रैवल इंश्योरेंस की सुविधा मुफ्त में नहीं देगी. इसके लिए भी आपको ही खुद पैसे देने होंगे.

1 सितंबर से रेलवे में ट्रैवेल इंश्योरेंस के लिए पूरी निर्भरता यात्री की होगी न कि भारतीय रेलवे की. रेलवे के अनुसार ऑनलाइन टिकट बुक कराने वालों यात्रिओं के लिए ट्रैवल इंश्योरेंस ऑप्शनल होगा. इस हिसाब से 1 सितंबर से टिकर बुक कराने के बाद अगर आप ट्रैवल इंश्योरेंस को अपनाते हैं तो आपको रेलवे के नियमों के अनुसार उसका प्रीमियम भी खुद ही भरना पड़ेगा.

 

 

गौरतलब है कि ट्रैवल इंश्योरेंस की सुविधा रेलवे ने डिजिटल ट्रांजैक्शन को प्रोत्साहित करने के लिए ही शुरू करी थी. जो कि पहले फ्री थी. लेकिन अब इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए सभी ऑनलाइन टिकट बुक करने वाले यात्रिओं को प्रीमियम के पैसे खुद चुकाने होंगे. हालांकि रेलवे ने अभी इस प्रीमियम की कोई निर्धारित राशि का ऐलान नहीं किया है.

IRCTC टेंडर घोटाला: तेजस्वी यादव पहली बार आज आरोपी के रूप में कोर्ट में होंगे पेश, जाएंगे जेल?

इसके अलावा यदि एक्सीडेंट में किसी भी प्रकार से कोई अंग हानि होती है यानी व्यक्ति अपंग हो जाता है तो उस स्तिथि में 7 लाख की राशि रेलवे की तरफ से मुहैया कराई जाती है. इसी के साथ घायल होने पर 2 लाख रुपये देने का प्रावधान है. और मृतक के अंतिम अवशेष ले जाने के लिए परिवार ये संबंधी को 10 हजार रुपये दिए जाते यहीं.

इश्क़ में डूबी अमृता प्रीतम, इमरोज की पीठ पर लिखती रहती थीं 'साहिर'
2017 दिसंबर में ही रेलवे ने इस फ्री इंश्योरेंस की सुविधा का ऐलान किया था. रेलवे की इस सुविधा के तहत इस इंश्योरेंस में अधिकतम 10 लाख की राशि दी जाती है. जो कि किसी दुर्घटना में मृत्यु हो जाने के बाद ये राशि प्रदान की जाती है.

First published: 31 August 2018, 10:30 IST
 
अगली कहानी