Home » इंडिया » Is Sachin Tendulkar's Jaypee Greens Flat registry is a publicity stunt of JayPee Group?
 

जब जेपी ग्रुप संकट में है तब सचिन तेंदुलकर ने कराई रजिस्ट्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 May 2016, 18:13 IST

बुधवार को एक खबर आई कि जेपी ग्रींस के एक आलीशान अपार्टमेंट की रजिस्ट्री कराने मास्टर ब्लास्ट सचिन तेंदुलकर की पत्नी अंजलि ग्रेटर नोएडा पहुंचीं. पैसों की कमी से जूझ रहे इस ग्रुप के लिए यह एक सकारात्मक खबर बनकर सामने आई.

हाल के दिनों में जेपी ग्रुप कई तरह की नकारात्मक खबरों की वजह से सुर्खियों में था. कोर्ट, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल और राज्य सरकार की सख्त कार्रवाईयों के चलते जेपी ग्रुप पर दबाव काफी बढ़ गया है. इसी बीच जेपी ग्रुप के निवेशकों-खरीदारों ने भी उस पर हल्ला बोल दिया है. नोएडा-ग्रेटर नोएडा में निर्माणाधीन तमाम प्रोजेक्ट के समय पर पूरा न होने से नोएडा प्राधिकरण ने अब हर सप्ताह प्रोजेक्ट की प्रगति की समीक्षा का आदेश दिया है. 

Anjali Sachin Tendulkar Flat registry in JayPee Greens.jpeg

पत्रिका

सूत्रों की मानें तो करीब 13 हजार करोड़ रुपये की लागत से बना यमुना एक्सप्रेसवे जेपी समूह के लिए सफेद हाथी साबित हो रहा है. टोल की दरें महंगी होने के चलते यहां से निकलने वाले वाहनों की संख्या काफी कम है. जिससे इसके खर्चे पूरे करना मुश्किल हो रहा है.

जेपी ग्रुप का संकट: संस्थापक ने कहा पैसा नहीं है, प्रोजेक्ट पर लटकी तलवार

वहीं, इससे पहले करीब 2,500 करोड़ की लागत से बनाए गए बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट में भी पिछले दो सालों से फॉर्मूला-1 रेस नहीं हुई और अगले साल भी होती नहीं दिख रही. यहां पर भी जेपी ग्रुप द्वारा लगाया गया पैसा निकलता नहीं दिख रहा.

इस बीच सोनभद्र में एनजीटी ने जेपी सीमेंट प्लांट की जमीन को वापस करने संबंधी आदेश के बाद समूह की स्थिति और खराब हो गई है. नोएडा-ग्रेटर नोएडा में पिछले सात साल में लॉन्च किए गए तमाम प्रोजेक्ट ऐसे हैं कि कुछ में बिल्कुल काम ठप पड़ा है. ये प्रोजेक्ट तय समय सीमा से पांच साल तक पीछे चल रहे हैं. सात साल पहले फ्लैट बुक कराने वाले खरीदार केवल इंतजार कर रहे हैं लेकिन उन्हें अभी भी अपना आशियाना मिलता नहीं दिख रहा.

Anjali Sachin Tendulkar Flat registry in JayPee Greens1.jpeg

पत्रिका

कई प्रोजेक्ट में तो इमारतें खड़ी हो चुकी हैं लेकिन फिनिशिंग और बचे काम को पूरा करने के लिए ग्रुप मजदूरों को पैसा नहीं दे पा रहा जिसके चलते काफी वक्त से काम बंद पड़ा है. अलग-अलग प्रोजेक्टों में पैसा लगाने वाले खरीदार अब धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं. प्राधिकरण ने सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए जल्द काम पूरा करने को कहा है.

पढ़ेंः रीयल एस्टेट के बाजार में मंदी, कीमत 35 फीसदी तक हुईं कम

लेकिन इस दौरान बुधवार को ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के गामा टू सेक्टर स्थित कार्यालय में सुबह पूर्व भारतीय क्रिकेटर और मास्टर ब्लास्ट सचिन तेंदुलकर की पत्नी डॉ. अंजलि तेंदुलकर पहुंचीं. अंजलि के आने का मकसद जेपी ग्रींस गोल्फ कोर्स में मौजूद क्रिसेंट कोर्ट अपार्टमेंट के फ्लैट की रजिस्ट्री कराना था.

Anjali Sachin Tendulkar Flat registry in JayPee Greens3.jpeg

पत्रिका

क्रिसेंट कोर्ट में 21वीं मंजिल पर बने 314 वर्ग मीटर के इस फ्लैट की कीमत करीब 1.68 करोड़ रुपये बताई जा रही है. अंजलि ने इस फ्लैट की रजिस्ट्री के लिए 8.40 रुपये का स्टांप शुल्क चुकाया. यह फ्लैट छह लग्जरी बेडरूम वाला है.

जेपी ग्रुप में सचिन के फ्लैट की रजिस्ट्री कराने की खबर ऐसे नाजुक वक्त में ग्रुप की प्रतिष्ठा को वापस लाने में मददगार तो हो ही सकती है. सचिन तेंदुलकर द्वारा फ्लैट की रजिस्ट्री कराने से बुरे समय में जेपी समूह को प्रचार पाने का बेहतर जरिया मिल गया है.

पढ़ेंः बिल्डरों पर नकेल कसने के लिए आज से रीयल एस्टेट बिल 2016 लागू

गौरतलब है कि कुछ साल पहले जब सचिन तेंदुलकर जेपी सीमेंट के ब्रांड एंबेसडर थे तो उसी दौरान जेपी ग्रींस स्थित क्रिसेंट कोर्ट अपार्टमेंट में एक फ्लैट का करार हुआ था.
First published: 12 May 2016, 18:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी