Home » इंडिया » Ishrat was a Lashkar suicide bomber: Headley
 

जानिए 'इशरत जहां' के बारे में क्या-क्या कहा डेविड हेडली ने

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2016, 20:02 IST

मुंबई के 26/11 हमले में अमेरिका से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गवाही दे रहे कुख्यात आतंकी डेविड कोलमैन हेडली ने आज अपनी गवाही में बताया कि 2004 में अहमदाबाद में एनकाउंटर में मारी गई इशरत जहां लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम करती थी.

मुंबई हमले के मामले में हेडली ने अपनी गवाही के तीसरे दिन यह बात दर्ज कराई. इससे पहले कल इस मामले में तकनीकी खामी की वजह से गवाही नहीं हो सकी थी. 

इस मामले में हेडली ने मुंबई कोर्ट के विशेष जज जीए सनप को अपनी गवाही में बताया कि साल 2004 में गुजरात पुलिस के द्वारा एनकाउंटर में मारी गई इशरत जहां लश्कर-ए-तैयबा की आत्मघाती हमलावर थी.

हेडली ने बताया कि इशरत जहां के लश्कर-ए-तैयबा के मुजम्मिल नाम के आतंकी के साथ मिलकर काम किया करती थी. उस समय मुजम्मिल को भारत में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए भेजा गया था.

लश्कर ने इशरत को गुजरात के अक्षरधाम मंदिर पर हमले की जिम्मेदारी दी थी लेकिन वह इसे अंजाम नहीं दे सकी.

हेडली ने अब तक की अपनी गवाही में जो अहम बातें कही हैं, वो इस प्रकार है -

1. मुंबई के होटल ताज में होने वाली डिफेंस कॉन्फ्रेंस आतंकियों के निशाने पर थी.

2. लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी साजिद मीर ने उसे सिद्धिविनायक मंदिर का वीडियो लेने को कहा था.

3. अप्रैल 2007 में हेडली अपनी पत्नी फैजा के साथ होटल ताज की रेकी करने के लिए मुंबई आया और होटल ताज में ठहरा.

4. हेडली को मेजर इकबाल और साजिद मीर ने होटल ताज होटल की वीडियो ग्राफी करने का निर्देश दिया. 

5. हेडली ने न सिर्फ होटल ताज का वीडियो बनाया बल्कि उसने शहर के कई महत्वपूर्ण इलाकों के भी वीडियो बनाए थे.

6. हेडली ने हमले के लिए नवल एयर स्टेशन और महाराष्ट्र पुलिस हेडक्वार्टर की भी रेकी की थी.

7. हेडली जुलाई 2007 में होटल ओबेरॉय में भी गया और साथ ही कोलाबा पुलिस स्टेशन के इर्द-गिर्द के इलाकों का भी सर्वे किया.

8. लश्कर का जकीउर्रहमान लखवी पाकिस्तान में ऑपरेशनल कमांडर था और उसी के कहने पर मुंबई के 26/11 हमलों को अंजाम दिया गया.

First published: 11 February 2016, 20:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी