Home » इंडिया » ITBP demand 9 batalian for indo tibet border in Arunachal Pradesh
 

भारत-चीन बॉर्डर पर हलचल हुई तेज, ITBP ने कहा- 'जल्द भेजिए 9 बटालियन'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2019, 15:13 IST

भारत-चीन के बॉर्डर पर अक्सर तनाव या टकराव की खबरें आती रहती हैं, डोकलाम विवाद इसका सबसे ताजा उदाहरण है. अब अरुणाचल प्रदेश से लगती सीमा पर चीनी सैनिकों की तरफ से होने वाले घुसपैठ पर लगाम लगाने के लिए इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस फोर्स (ITBP) ने गृह मंत्रालय से 9 अतिरिक्त बटालियनों की मांग की है. गौरतलब है कि भारत-चीन बॉर्डर पर भारतीय सेना के साथ लेह से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक आईटीबीपी के जवान तैनात हैं. चीनी सैनिक अक्सर लेह से लेकर उत्तराखंड के बारोहोती और अरुणाचल प्रदेश में घुसपैठ करते रहते हैं. अरुणाचल प्रदेश में आईटीबीपी की एक पोस्ट से दूसरी पोस्ट की दूरी कई जगहों पर 100 किलोमीटर से भी ज्यादा है. ऐसे हालात में चीनी सैनिकों की घुसपैठ की जानकारी सही वक्त पर नहीं मिल पाती है.

गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, 'अरुणांचल प्रदेश से सटे इलाके बेहद संवेदनशील है यहां आईटीबीपी की संख्या कम है ऐसे में आईटीबीपी ने 9 नई बटालियनों के मंजूरी की मांग की है. लेकिन अभी रक्षा मंत्रालय के जवाब का इतंजार किया जा रहा है.'' बॉर्डर पर पहाड़ी और जंगली इलाके में पेट्रोलिंग करनी आसान नहीं होती है और कैंप के बीच में कई किलोमीटर का फासला होने से ये समस्या और भी जटिल हो जाती है. सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, इसकी फाईल कई महीनों से मंत्रालय में लंबित पड़ी हुई है. 

रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार भारतीय सेना आईटीबीपी पर आपरेशन कंट्रोल चाहती है, जिससे सेना और आईटीबीपी के बीच बेहतर तालमेल हो सके. पिछले कई दिनों से वन बार्डर वन फोर्स की तर्ज पर अभी ये मंथन चल रहा है 

First published: 11 February 2019, 15:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी