Home » इंडिया » J&K: 4 terrorists killed, one apprehended in an encounter with security forces in Naugam
 

जम्मू-कश्मीर: नौगाम में मुठभेड़ में चार आतंकी ढेर, एक जिंदा पकड़ा गया

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 July 2016, 11:12 IST
(सांकेतिक फोटो)

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है. नौगाम इलाके में एनकाउंटर के दौरान चार आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया.

इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया. इस दौरान जवाबी कार्रवाई में आतंकियों को ढेर कर दिया गया. वहीं मुठभेड़ में एक आतंकी को जिंदा पकड़ने में भी कामयाबी हासिल हुई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक कश्मीर घाटी में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास नौगाम सेक्टर में सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया.

इस साल बढ़ी घुसपैठ

इस बीच थलसेना की उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले इस साल घुसपैठ की ज्यादा घटनाएं सामने आई हैं.

करगिल विजय दिवस का जिक्र करते हुए लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा ने कहा, "आज के वक्त में हम कहीं ज्यादा तैयार हैं और मैं यह पूरे आत्मविश्वास के साथ कह सकता हूं कि करगिल जैसे हालात दोबारा पैदा नहीं होंगे."

वहीं कश्मीर घाटी में तनाव के बारे में उत्तरी कमान के प्रमुख ने कहा कि जहां तक नागरिक उपद्रव की बात है उसे सेना सीधे तौर पर नहीं संभाल रही है. इस काम में पुलिस और सीआरपीएफ के जवान जुटे हुए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा ने कहा, "इस हालात से वे पिछले 20-25 साल से निपट रहे हैं. उन्हें पता है कि किस तरह की सख्ती बरतनी है."

श्रीनगर के सभी हिस्सों से कर्फ्यू हटा

इस बीच घाटी के हालात में सुधार की खबर है. श्रीनगर के जिलाधिकारी के मुताबिक शहर के इलाकों में आज कोई पाबंदी नहीं है. प्रशासन ने श्रीनगर के सभी हिस्सों से कर्फ्यू और प्रतिबंध हटा लिया है.

आठ जुलाई को हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की एनकाउंटर में मौत के बाद घाटी के हालात बिगड़ गए थे. जिसके बाद सभी 10 जिलों में कर्फ्यू लगा दिया गया था. इस दौरान अमरनाथ यात्रा भी कई बार बाधित हुई है.

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी पिछले हफ्ते राज्य का दौरा किया था. इस दौरान मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के अलावा राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेताओं से भी उन्होंने मुलाकात की थी.

First published: 26 July 2016, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी