Home » इंडिया » J&K mla allaged: for surgical strike proving army making fake video
 

जम्मू-कश्मीर के एमएलए का आरोप, सर्जिकल सट्राइक के सबूत के लिए सेना बना रही फर्जी वीडियो

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 October 2016, 15:50 IST
(एजेंसी)

जम्मू-कश्मीर के विवादास्पद निर्दलीय एमएलए शेख अब्दुल राशिद ने बुधवार को आरोप लगाया कि सेना सबूत पेश करने के लिए नियंत्रण रेखा के पास लीपा घाटी में ‘फर्जी कार्रवाई’ की वीडियोग्राफी कर रही है.

कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के लांगेट के विधायक राशिद ने दावा किया कि पिछले तीन दिनों से सेना उनके विधानसभा क्षेत्र में लीपा घाटी में फर्जी हमले की फुटेज बनवा रही है ताकि उन्हें लक्षित हमले के सबूत के तौर पर दिखा सके.

अब्दुल राशिद ने दावा किया, "सर्जिकल स्ट्राइक की कहानी को सच बताने के लिए सेना द्वारा फर्जी निशान बनाए जा रहे हैं और मैं पूरी दुनिया को कहना चाहता हूं कि यदि वे कुछ सबूत पेश करें, तो यह लीपा का होगा और यह फर्जी है जिसे हम साबित कर सकते हैं."

उन्होंने आरोप लगाया कि पांच में दो स्थानों पर कोई गोलीबारी नहीं हुई जहां सेना ने अपने हमले करने का दावा किया है. एमएलए राशिद ने कहा कि उन्होंने क्षेत्र के लोगों से जानने की कोशिश की और उनकी जानकारी के मुताबिक पिछले 20 दिनों में वहां कोई गोलीबारी नहीं हुई. सर्जिकल स्ट्राइक एक नाटक था ताकि कश्मीर से ध्यान भटकाया जा सके जहां तीन महीने से हिंसा हो रही थी.

राशिद ने सेना से नेताओं के हाथों इस्तेमाल नहीं होने को कहा. एमएलए ने कहा कि पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मीडिया को नियंत्रण रेखा पर ले गया ताकि वह उन्हें दिखा सकते कि ऐसा कोई हमला नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि यदि भारत अपने दावों को लेकर सच्चा है तो वह भी ऐसा करता. दोनों देशों से अपने निहित हितों को लेकर कश्मीर को रणभूमि नहीं बनाने को भी कहा.

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने बीते सप्ताह में दावा किया था कि उसके जवानों ने एलओसी पार कर पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक किए हैं. इस दौरान उन्होंने पीओके स्थित आतंकी ठिकानों को ध्वस्त किया है. वहीं पाकिस्तानी सेना भारतीय सेना के इन दावों को खारिज कर रही है. पाकिस्तानी सेना का कहना है कि भारतीय सेना ने कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किया है.

First published: 6 October 2016, 15:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी