Home » इंडिया » jabalpur mahakaushal express derail near mahoba in uttar pradesh
 

महोबा ट्रेन हादसा: महाकौशल एक्सप्रेस के 8 डिब्बे पटरी से उतरे, 22 यात्री हुए घायल

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2017, 9:45 IST
mahakaushal express

यूपी के महोबा के पास देर रात एक ट्रेन हादसा हुआ है. महाकौशल एक्सप्रेस के 8 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं. शुरुआती जानकारी के मुताबिक- इसमें कम से कम 22 यात्रियों के घायल होने की खबर है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्रेन दुर्घटना को गंभीरता से लिया है. उन्होंने प्रदेश के स्वास्थ्य तथा चिकित्सा मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह को तत्काल दुर्घटना स्थल पर जाने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही मंत्री को वहां पर चिकित्सा के साथ राहत कार्य पर निगरानी रखने का भी निर्देश दिया है. 

मध्य प्रदेश जबलपुर से हज़रत निज़ामुद्दीन स्टेशन आ रही ट्रेन के बेपटरी हुए डिब्बों में 4 एसी, एक स्लीपर, 2 जनरल और एक SLR बोगी शामिल है. ये हादसा रात करीब 2 बजे महोबा और कुलपहर स्टेशन के बीच हुआ. हादसे के बाद मौके पर बचाव दल को भेज दिया गया और राहत और बचाव का काम शुरू हो गया है.

हादसे के बाद इलाहाबाद-झांसी रूट प्रभावित हुआ है, जिसके बाद कुछ ट्रेनों के रूट बदले गए हैं. चश्मदीदों की माने तो हादसे में कुछ लोगों को मामूली चोटें आई हैं, लेकिन रेलवे अथॉरिटी ने किसी के भी हताहत होने की खबर से इनकार किया है. खबरों की मानें तो इस हादसे के पीछे असमाजिक तत्वों का हाथ हो सकता है हालांकि इस खबर की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है.

हेल्पलाइन नंबर
रेलवे ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर, झांसी हेल्प लाइन नम्बर- 0510-1072 ,ग्वालियर हेल्प लाइन नम्बर- 0751-1072, बांदा हेल्प लाइन नम्बर- 05192-1072
महोबा के एसपी गौरव सिंह से हुई बातचीत के मुताबिक-अभी तक दुर्घटना में किसी के जान जाने की जानकारी नहीं है. हादसा रात 2.30 बजे के लगभग हुई. डिविजनल रेलवे मैनेजर और जीएम मौके पर मौजूद हैं. उन्होंने हादसे की वजह जांच के बाद ही पता लगने की बात कही है. साथ ही बताया कि एक एसी2, तीन एसी3 और 4 स्लीपर कोच पटरी से उतरे हैं. इस हादसे से झांसी-इलाहाबाद रूट प्रभावित हुआ है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक महोबा स्टेशन से चलने के 10 किलोमीटर के बाद ही ट्रेन पटरी से उतर गई थी. ट्रेन की रफ्तार कम होने की वजह से बड़ा हादसा टल गया. पटरी से उतरने के बाद महाकौशल एक्सप्रेस दो भागों में बंट गई थी. इंजन बाकी बोगियों को लेकर आगे चला गया था.

First published: 30 March 2017, 9:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी