Home » इंडिया » Jaish-E-mohammad planning to attack in Jammu and Kashmir like Pulwama CRPF attack
 

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा की तरह हो सकता है एक और बड़ा आतंकी हमला, जैश की नई साजिश का खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 March 2019, 19:08 IST

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की एक और बडी़ साजिश का खुलासा हुआ है. जम्मू-कश्मीर में पुलवामा हमले के बाद अलर्ट जारी है. इस बीच आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद कश्मीर में एक बार फिर बड़ी घटना को अंजाम देने की कोशिश कर रहा है.

खुफिया एजेंसियों को इनपुट मिला है कि जैश के कई कमांडर कश्मीर के स्थानीय लोगों को बम बनाने की ट्रेनिंग दे रहे हैं. खुफिया एजेंसियों के इनपुट के अनुसार, 5-6 स्थानीय लोगों को जैश के कमांडर बम असेंबल करना सिखा रहे हैं. इसके लिए कश्मीर के भीतरी इलाके में एक ट्रेनिंग कैंप भी चल रहा है.

खुफिया सूत्रों को खबर मिली है कि पाकिस्तान का आतंकी अलीमीर उर्फ मुन्ना बाहरी यह ट्रेनिंग कैंप चला रहा है. कैंप में पुलवामा की तरह एक और वारदात को अंजाम देने के लिए आतंकियों को ट्रेनिंग दी जा रही है. खुफिया सूत्रों को ये जानकारी आतंकियों के बीच हुई बातचीत के इंटरसेप्ट से हुई है.

जैश का कमांडर अलीमीर बम असेंबल करने और आईईडी ब्लास्ट में एक्सपर्ट माना जाता है. इसलिए जैश ने यह प्लानिंग अलीमीर को सौंपी है. खुफिया सूत्रों की जानकारी के अनुसार, अलीमीर पाकिस्तानी मूल का आतंकी है. अलीमीर ने पाकिस्तान के उसी बालाकोट कैंप में आतंक की ट्रेनिंग ली है जिसे भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक के दौरान उड़ा दिया है.

अलीमीर लंबे समय तक बालाकोट कैंप में रहा है और वहां अफगानी आतंकियों से बम असेंबल करने की ट्रेनिंग ली है. हालांकि जैश के इस खुलासे के बाद देश की सुरक्षा एजेंसिया अलर्ट हो गई हैं. पुलवामा हमले से भी पहले सुरक्षा एजेंसियों को हमले के इनपुट मिले थे. हालांकि तब पुलवामा में आतंकी हमला हो गया था और सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे.

महिला दिवस के मौके पर PM मोदी ने जो वीडियो शेयर किया है उसे देख आपको गर्व महसूस होगा

आतंकवाद पर मोदी सरकार का बड़ा प्रहार, जमात-ए-इस्लामी के 70 ठिकाने सील, कई नेता हिरासत में

First published: 11 March 2019, 19:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी