Home » इंडिया » Jamia Protest: CJI SA Bobde says students can npt take law and order in their hands
 

जामिया प्रदर्शन पर सुप्रीम कोर्ट के CJI की कड़ी टिप्पणी, कानून हाथ में नहीं ले सकते छात्र

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2019, 12:24 IST

Jamia Milia Protest: नागरिकता कानून(Citizenship Amendment Act 2019) में बदलाव के खिलाफ जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय(Jamia Milia Isamia University) में हुई हिंसा के मामले पर सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश (CJI) एसए बोबडे ने बड़ी टिप्पणी की है.

सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश बोबड़े ने कहा है कि क्योंकि वे स्टूडेंट्स हैं, इसका मतलब ये नहीं कि वे कानून-व्यवस्था अपने हाथ में लेंगे. सीजेआई ने सख्ती से कहा कि जब हिंसा रूक जाएगी, तभी वह इस मामले को सुनेंगे. जामिया और अलीगढ़ हिंसा मामले पर वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है.

इंदिरा जय सिंह की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार हुआ है और मामले पर कल सुनवाई के लिए कहा है. वकील इंदिरा जयसिंह ने सीजेआई बोबडे की बेंच को मामले का संज्ञान लेने का आग्रह किया है. इंदिरा जयसिंह ने कहा कि मामला मानव अधिकार हनन का है.

CAA प्रोटेस्ट : असम में अब तक पांच लोगों की मौत, कर्फ्यू में दी गई ढील

हिंसा की आशंका के चलते 5 जनवरी तक AMU बंद, डर से जामिया छोड़कर जा रही छात्राएं

First published: 16 December 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी