Home » इंडिया » Jammu and Kashmir: Assam IPS Officer's Brother Joins Hizbul Mujahideen
 

IPS अधिकारी का भाई बना हिजबुल का आतंकी, ऑफिसर का कर दिया गया ट्रांसफर

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 July 2018, 8:55 IST

असम से एक बहुत ही हैरान करने वाली खबर सामने आ रही है. यहां तैनात एक आईपीएस अधिकारी का छोटा भाई आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल हो गया है. आईपीएस अधिकारी के भाई की फोटो कश्मीर में वायरल हुई है जिसमें वह एके-47 लिये खड़ा है.

25 साल के इस युवक की तस्वीर सोशल मीडिया में आने के बाद लोग हैरान हैं. असम के कई पुलिसकर्मी और उनके परिवार के लोगों को विश्वास नहीं हो पा रहा है कि उनके बीच तैनात एक अधिकारी का भाई अब आतंकवादी है. 

रिपोर्ट के अनुसार, कश्मीर के शोपिया जिलांतर्गत हैदरपोवा निवासी मोहम्मद रफीक का 25 वर्षीय पुत्र समसुल हक मेंगनूई श्रीनगर के समीपवर्ती जाकुरा स्थित सरकारी मेडिकल कालेज में यूनानी चिकित्सा के स्नातक की पढ़ाई कर रहा था. बीते 22 मई से वह अचानक गायब हो गया. इसके बाद कश्मीर पुलिस को पता था कि वह हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल हो गया है. हालांकि पुलिस के पास कोई पुख्ता प्रमाण नहीं था.

पढ़ें- NIA का दावा - कश्मीरी अलगाववादी आसिया को बहन बुलाता है हाफ़िज़ सईद

रविवार को जब हिजबुल ने समसुल हक मेंगनूई की फोटो जारी की तो पुलिस को पुख्ता सबूत मिल गया. सगे छोटे भाई समसुल हक मेंगनूई के आतंकी संगठन हिजबुल का सदस्य होने की खबर जैसे ही प्रकाश में आई, वैसे ही असम के पुलिस विभाग में तैनात उसके बड़े भाई असम-मेघालय कैडर के आईपीएस अधिकारी डॉ. इनामुल हक मेंगनूई का बीती रात कार्बी आंग्लांग जिले में तबादला करके गुवाहाटी भेज दिया गया.

डॉ. इनामुल हक मेंगनूई को उत्तर गुवाहाटी स्थित कमांडो बटालियन में कमांडेंट के पद पर भेजा गया है. वह अभी तक कार्बी आंग्लांग जिले में पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात थे. 

First published: 10 July 2018, 8:52 IST
 
अगली कहानी