Home » इंडिया » Jammu and Kashmir: Girish Chandra Murmu takes oath as first Lt. Governor of Union territory
 

मोदी और शाह के खासम-खास क्यों माने जाते हैं जम्मू-कश्मीर के नए LG गिरीश चंद्र मुर्मू

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 October 2019, 14:19 IST

जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद अपना पहला उप-राज्यपाल मिल गया है. मोदी सरकार ने गिरीश चंद्र मुर्मू को नए बने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर का पहला लेफ्टिनेंट गवर्नर नियुक्त किया गया है. गिरीश चंद्र मुर्मू गुजरात कैडर के आईएएस अधिकारी रहे हैं. पीएम मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब गिरीश चंद्र मुर्मू नरेंद्र मोदी के प्रमुख सचिव थे. 

साल 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम मोदी उन्हें अपने साथ दिल्ली ले आए. फिलहाल वह वित्त मंत्रालय में व्यय सचिव हैं. गुजरात में मुर्मू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के काफी विश्वासपात्र रहे हैं. मुर्मू 1985 बैच में गुजरात कैडर के IAS अधिकारी चुने गए. इसके बाद वह साल 2004 में नरेंद्र मोदी की टीम से जुड़े.

गिरीश चंद्र मुर्मू की काबिलियत को देखते हुए उन्हें दोहरी भूमिका दी गई थी. सीएम मोदी के प्रिंसिपल सेक्रटरी के साथ-साथ वह अमित शाह के गृह विभाग के सेक्रटरी भी थे. इसी दौरान मुर्मू का नाम विवादों में भी आया था. गुजरात के बहुचर्चित फर्जी एनकाउंटर मामले में सीबीआई ने गिरीश चंद्र मुर्मू से पूछताछ की थी.

मुर्मू का कार्यकाल अभी कुछ दिनों का बाकी था. उन्हें जम्मू-कश्मीर का उप-राज्यपाल बनाकर मोदी सरकार ने एक तरह से जाहिर कर दिया है कि वह राज्य के मामले को प्रशासनिक नजरिए से देख रही है. कश्मीर विवाद को सुलझाने या नियंत्रित करने की कोशिश वह प्रशासनिक नजरिए से करेगी क्योंकि अगर जम्मू-कश्मीर को राजनीतिक समाधान के जरिए हल होता तो वहां किसी नेता को कमान दी जाती.

जम्मू-कश्मीर के धारा 370 के अनुबंधों को कमजोर किए जाने के बाद राज्य में तैनात आईएएस और आईपीएस अफसर चुनी हुई सरकार की जगह, उप-राज्यपाल के अधीन होंगे. ऐसे में पुलिस और प्रशासन की चाबी मुर्मू के हाथों में ही होगी. मुर्मू अपने प्रसाशनिक अनुभव से कश्मीर में हालात सामान्य करने की कोशिश करेंगे. 

जनवरी में 2018 में जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस परेशान करने वाली घटना थी: जस्टिस बोबडे

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाकर सरदार पटेल का सपना किया पूरा: पीएम मोदी

First published: 31 October 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी