Home » इंडिया » Jammu And Kashmir Governor Satya Pal Malik reply on Adhir Ranjan Chowdhury's remark
 

'पॉलिटकल टूरिज्म के लिए जम्मू-कश्मीर आए थे राहुल गांधी, नहीं दी जा सकती थी इजाजत'

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 August 2019, 14:10 IST

जम्मू-कश्मीर के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने एक बार फिर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की कश्मीर यात्रा को लेकर हमला बोला है. सत्यपाल मलिक ने कहा कि राहुल गांधी ने उनके निमंत्रण को व्यवसाय में बदल लिया.

सत्यपाल मलिक ने कहा, "राहुल गांधी से मैंने कहा था कि अगर आपको हम पर भरोसा नहीं है तो कश्मीर आइए और जमीनी तस्वीर देखिए. लेकिन राहुल ने कहा कि वो नजरबंद नेताओं से मिलेंगे, सेना से मिलेंगे. जबकि मैंने साफ कर दिया था कि इस तरह की शर्तें स्वीकार नहीं की जा सकती हैं." 

सत्यपाल मलिक ने कहा, "हमने अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कर दिया. आप उसका असर आने वाले समय में देखेंगे. जम्मू-कश्मीर के लोगों के विकास के लिए हम जी जान लगा देंगे. इस तरह के हालात का निर्माण करेंगे कि पीओके के लोग भी कहेंगे कि देखो जम्मू-कश्मीर रहने के लिए बेहतर जगह है." 

इसके अलावा मलिक ने लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी के उस बयान का भी जवाब दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि राज्यपाल को जम्मू-कश्मीर का बीजेपी चीफ बना देना चाहिए. इसके जवाब में सत्यपाल मलिक ने कहा, "लोकसभा में उन्होंने जम्मू-कश्मीर पर ऊट-पटांग बयान देकर अपनी ही पार्टी को कब्र में दफन कर दिया था. मैं उसके ज्ञान पर क्या कहूं? मैं अपना काम पूरी निष्ठा से कर रहा हूं, मुझे इन आरोपों की परवाह नहीं है."

दरअसल, दो दिन पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत विपक्ष के 12 नेता कश्मीर के दौरे पर गए थे. उन्हें श्रीनगर एयरपोर्ट से ही वापस लौटा दिया गया था. राहुल गांधी का वहां के अधिकारियों के साथ बहस का वीडियो भी सामने आया है. इसके बाद राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा था कि राहुल गांधी कश्मीर राजनीति करने आए थे. 

जिस पर अधीर रंजन चौधरी ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को राज्य बीजेपी का अध्यक्ष बनाने की बात कही थी और कहा था कि राज्यपाल का व्यवहार और बयान बीजेपी नेता की ही तरह है.

First published: 26 August 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी