Home » इंडिया » jammu and kashmir: Gun shots heard inside Sunjwan Army camp, area cordoned off. More details awaited
 

जम्मू- कश्मीर: आर्मी कैंप पर बड़ा आतंकी हमला, 3 से 4 आतंकी कैंप में घुसे

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2018, 9:52 IST

जम्मू से करीब दस किलोमीटर दूर सुनजवां आर्मी कैम्प पर आतंकियों ने बड़ा हमला किया है. आर्मी से मिली जानकारी के मुताबिक, सुबह आतंकी सुनजवां कैम्प में घुस गए. इससे पहले गेट पर तैनात सन्तरी ने संदिग्ध हरकत देखी. जिसके बाद दोनों ओर से फायरिंग हुई. इस दौरान तीन से चार आतंकी दो- दो की तादाद में कैम्प में दाखिल हो गए. ये आतंकी जेसीओ फैमिली क्वाटर की ओर घुसे हैं. फायरिंग के दौरान एक जेसीओ और एक बच्चा घायल हो गये हैं.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह को हमले से जुड़ी जानकारी दी गई है. जानकारी है कि हमले में शामिल सभी आतंकी पाकिस्तान के हैं. सेना के कैंप पर हमला करने वाले आतंकी जैश ए मोहम्मद के हैं. गोलीबारी में एक जेसीओ एक जवान की बेटी घायल हैं. अभी भी दोनों ओर से गोली बारी जारी है.सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज कर दिया है.

 

बताया जा रहा है कि कैंप के भीतर से गोलियां चलने की आवाज सुनी गईं जिसके बाद इलाके की घेराबंदी कर दी गई. पुलिस का कहना है कि यह अपनी तरह का पहला ऐसा हमला है. अधिकारियों ने बताया कि शिविर के पिछले हिस्से में सैन्यकर्मियों के आवासीय क्वार्टर हैं. आतंकवादियों की संख्या दो से तीन मानी जा रही है. हालांकि उन्हें अलग-थलग किया जा चुका है.

सुबह करीब 4.50 बजे से फायरिंग जारी है. हमले के मद्देनजर पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है, हेलिकॉप्टर से नजर रखी जा रही है. कैंप के नजदीक 500 मीटर के दायरे में सारे स्कूल बंद कर दिये गये हैं. बेहद एहतियाती तौर पर ऑपरेशन को अंजाम दिया जा रहा है. जवानों के परिवारों को कोई नुकसान ना पहुंचे इस बात का ध्यान रखा जा रहा है.

 

दूसरे इलाकों में हमले की आशंका के चलते पूरे जम्मू में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है. बता दें सुंजवां ब्रिगेड आर्मी कैंप है, एक ब्रिगेड में करीब तीन हजार जवान रहते हैं. सुंजवां जम्मू शहर में ही है. आतंकियों को कैंप के अंदर पैमिली क्वार्टर के पास रोक दिया गया है. फिलहाल आर्मी कैंप में किसी के बंधक बनाए जाने की खबर नहीं है.

गौरतलब है कि खुफियां एजेंसियों ने हमले को लेकर अलर्ट जारी किया था. संसद हमले के आरोपी अफलज गुरू की कल बरसी थी. 11 फरवरी को जेकेएलएफ के मक़बूल बट्ट की बरसी भी है. इसी के चलते 9 से 11 फरवरी के बीच रेड अलर्ट जारी किया गया था.

First published: 10 February 2018, 9:52 IST
 
अगली कहानी